आरा में ग्रामीणों ने पुलिसकर्मियों को पीटा, 4 घायल: सूर्य मूर्ति विसर्जन के दौरान पुलिस ने DJ बजाने से रोका, ग्रामीणों ने की रोड़ेबाजी

0
8


आरा14 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक

आयर गांव में पुलिस-ग्रामीणों में झड़प।

भोजपुर में शुक्रवार की शाम सूर्य मूर्ति विसर्जन के दौरान पुलिस और ग्रामीणों के बीच झड़प हो गई। घटना आयर थाना क्षेत्र के आयर गांव की है। मूर्ति विसर्जन के दौरान DJ बजाने से मना करने पर ग्रामीणों ने पुलिस से धक्का-मुक्की और रोड़ेबाजी की। इसमें एक ASI समेत तीन पुलिस जवान जख्मी हो गए। घायलों का इलाज स्थानीय CHC में कराया जा रहा है। घायल पुलिसकर्मियों में ASI दीपक कुमार, होमगार्ड जवान महेंद्र सिंह सहित 2 अन्य जवान शामिल हैं।

पुलिस पर रोड़ेबाजी करने के आरोप पुलिस ने गांव के 2 युवकों को हिरासत में लिया। उन्हें जेल भेज दिया गया है। हिरासत में लिए गए आरोपियों में आयर गांव निवासी ओम प्रकाश चौधरी एवं मिथिलेश चौधरी शामिल है। इसके बाद देर रात ग्रामीण थाने का घेराव कर आरोपी युवकों को छोड़ने की मांग करने लगे। जहां से पुलिस ने समझाकर उन्हें वापस कर दिया गया। घटना के संबंध में जगदीशपुर SDPO श्याम किशोर रंजन ने बताया कि इस मामले में 20 नामजद और 30 अज्ञात लोगों पर FIR दर्ज की गई है।

यह हुई घटना
जगदीशपुर SDPO श्याम किशोर रंजन ने बताया कि आयर गांव स्थित पोखरे पर छठ की पूजा होती है। वहां ग्रामीणों ने भगवान सूर्य की मूर्ति बिठाई गई थी। इसे लेकर थाना प्रभारी ने ग्रामीणों से कहा कि सरकार के नए नियम के अनुसार किसी भी मूर्ति को उठाने और जुलूस निकालने के लिए लाइसेंस लिया जाता है। इसपर ग्रामीणों ने बताया कि हम लोग मूर्ति यहीं रखते हैं और पोखरा में ही विसर्जन कर देते हैं। कोई जुलास नहीं निकाली जाती है।

इसके बावजूद ग्रामीणों द्वारा शुक्रवार की दोपहर मूर्ति विसर्जन के दौरान DJ बजाकर जुलूस निकाला गया। सूचना पाकर जब थाना इंचार्ज वहां पहुंचे और उन लोगों से पूछा कि आप लोगों ने ऐसा क्यों किया। इसी बात को लेकर पुलिस और ग्रामीणों के बीच बहस हो गई। इसके बाद ग्रामीणों ने एक ASI समेत दो होमगार्ड जवान की पिटाई कर दी। इसके बाद पुलिस ने आरोपी युवकों को गिरफ्तार कर लिया। जिसके बाद ग्रामीणों ने जमकर बवाल किया।

खबरें और भी हैं…



Source link