इस शेयर ने निवेशकों को बना दिया करोड़पति, छोटे से इन्वेस्ट पर मिला 1.12 करोड़ का रिटर्न

0
11


नई दिल्ली: कैसर कॉर्पोरेशन लिमिटेड (Kaiser Corporation) के शेयरों ने निवेशकों को मालामाल बना दिया है. यह पेनी शेयर (Penny stock) है. सालभर में यह शेयर 38 पैसे से बढ़कर 42 रुपये के पार पहुंच चुका है. इस दौरान इसने अपने शेयर धारकों को करीब 11,176.32% का रिटर्न दिया है.

सस्ते शेयर का महंगा रिस्क

पेनी स्टॉक (Penny stock) वैसे तो कीमत में कम होते हैं लेकिन इनमें जोखिम (High Risk Share) बहुत अधिक है. हालांकि, जिस कंपनी का फंडामेंडल मजबूत हो उसमें निवेश किया जा सकता है.

यह भी पढ़ें: अमेरिकी राष्ट्रपति बाइडेन ने पोलैंड में निकाला गुस्सा, पुतिन को बता दिया ‘कसाई’

एक साल में जबरदस्त उछाल

पिछले साल 12 अप्रैल 2021को इस कंपनी के एक शेयर की कीमत 38 पैसे थी जो कि अब यानी 25 मार्च 2022 को बढ़कर 42.85 रुपये प्रति शेयर पर पहुंच गई है. सालभर में कंपनी के शेयर ने 11,176.32% का जबरदस्त रिटर्न दिया है. वहीं, इस पैकेजिंग मल्टीबैगर शेयर ने साल 2022 में अब तक 1,367.47 पर्सेंट का रिटर्न दिया है. 

निवेशकों का लगातार हुआ फायदा

कैसर कॉर्पोरेशन लिमिटेड के शेयर (Kaiser Corporation Ltd.) बीएसई पर 3 जनवरी 2022 को 2.92 रुपये पर थे जो अब बढ़कर 42.85 रुपये पर पहुंच गए. एक महीने पहले इस शेयर की कीमत 19 रुपये थी, इस दौरान इसने करीबन 125.41 पर्सेंट का रिटर्न दिया है.

यह भी पढ़ें: पुरानी पेंशन योजना पर सरकार का बड़ा ऐलान! इस दिन से होगा लागू

1 लाख की लागत में 1.12 करोड़ का रिटर्न

Kaiser Corporation के शेयर में अगर किसी निवेशक ने सालभर पहले 38 पैसे के हिसाब से 1 लाख रुपये लगाए होते तो आज यह रकम 1.12 करोड़ रुपये होती. अगर किसी निवेशक ने इस साल के पहले कारोबारी दिन (3 जनवरी 2022) में इस शेयर में 1 लाख रुपये लगाए होते तो आज यह रकम बढ़कर 14.67 लाख रुपये होती. वहीं, एक महीने पहले अगर किसी निवेशक ने इस शेयर में 19 रुपये के हिसाब से 1 लाख रुपये लगाए होते तो आज यह रकम 2.25 लाख रुपये हो जाती. यानी कि महीने भर में ही रकम डबल से अधिक होती.

ये है कंपनी का बिजनेस

दरअसल इस कंपनी की स्थापना सितंबर, 1993 में मुंबई में हुई थी. फिर इस कंपनी को 15 मार्च, 1995 को कैसर प्रेस लिमिटेड नाम से पब्लिक लिमिटेड कंपनी में बदल दिया गया था. इसके बाद 5 नवंबर 2013 को कंपनी का नाम बदलकर ‘कैसर कॉर्पोरेशन लिमिटेड’ कर दिया गया. कैसर कॉरपोरेशन लिमिटेड (KCL) लेबल, स्टेशनरी आर्टिकल्स, पत्रिकाओं और कार्टन का बिजनेस करती है. केसीएल ने अपनी सहायक कंपनियों के माध्यम से इंजीनियरिंग सामान, इलेक्ट्रिक और मैकेनिकल हीट ट्रेसिंग और टर्नकी परियोजनाओं में भी काम करती है.

LIVE TV





Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here