एलिवेटेड बनेगा: गंगा पथ पर पटना सिटी साइड में 2.9 किमी दूरी के लिए अलग से टेंडर, बढ़ेगी 300 करोड़ लागत

0
13


पटना2 घंटे पहले

  • कॉपी लिंक

नुरुद्दीन घाट से दीदारगंज तक गंगा नदी के बहाव में बदलाव के कारण अबतक नहीं हाे सका निर्माण।

लोकनायक गंगा पथ में पटना सिटी साइड (नुरूद्दीन घाट से धर्मशाला घाट तक 2.9 किलोमीटर) की दूरी में एलिवेटेड रोड निर्माण के लिए अलग से टेंडर होगा। इससे लोकनायक गंगा पथ की लागत करीब 300 करोड़ बढ़ जाएगी। पटना शहर की यातायात व्यवस्था को भविष्य में राहत पहुंचाने वाले लोकनायक गंगा पथ (कुल लंबाई- 19.9 किलोमीटर) में नुरूद्दीन घाट से धर्मशाला घाट तक 2.9 किलोमीटर की दूरी में गंगा नदी में बहाव के निरंतर बदलाव के कारण बांध पर सड़क बनाना संभव नहीं है। इस एलाइनमेंट में सड़क निर्माण कैसे कराया जाए, इसके लिए बीएसआरडीसी ने आईआईटी-रुड़की के विशेषज्ञों से सुझाव लिया जिसमें एलिवेटेड स्ट्रक्चर बनाने का निर्णय किया गया है।

इसके पहले पथ विकास निगम के अधिकारियों संग रुड़की के हाइड्रोलाॅजिकल डिपार्टमेंट के प्राध्यापक ने नुरूद्दीन घाट से धर्मशाला घाट तक स्थल सर्वेक्षण कर गंगा नदी के बहाव से उत्पन्न कटाव की गहन समीक्षा की थी। दरअसल, इस एलाइनमेंट (नुरूद्दीन घाट से धर्मशाला घाट तक 2.9 किलोमीटर) का निर्माण समय पर नहीं हो पाएगा तो लोकनायक गंगा पथ की पूरी उपयोगिता नहीं हो सकेगी।
नौजर घाट से दीदारगंज एलाइनमेंट में अबतक 2 किमी में पायों के फाउंडेशन का काम पूरा, शुरू हो रहा सुपरस्ट्रक्चर निर्माण

लोकनायक गंगा पथ के पटना सिटी इलाके में नौजर घाट से दीदारगंज (कुल 3.5 किलोमीटर) में से 2 किलोमीटर में पायों के फाउंडेशन काम पूरा हो गया है। अब सुपरस्ट्रक्चर का कार्य शुरु होने वाला है। वहीं पीएमसीएच कनेक्टिविटी वाले हिस्से में फाउंडेशन और सबस्ट्रक्चर का कार्य पूरा हो गया है तथा सुपरस्ट्रक्चर का कार्य शुरू हो रहा है। पीएमसीएच में मरीजों के आवागमन के लिए विशेष रूप से 4 लेन की सड़क कनेक्टिविटी दी जा रही है।

  • गंगा पथ के प्रारम्भ में दीघा की तरफ से 5.90 किलोमीटर दूरी में सड़क के साथ-साथ उसके दोनों तरफ 5 मीटर की हरित पट्टी और 5 मीटर चौड़ी वाकिंग ट्रैक बनाई जानी है।
  • एम्स-दीघा पथ, जेपी सेतु एवं आरब्लाॅक-दीघा पथ से संपर्कता के लिए दीघा छोर पर रोटरी का निर्माण किया जा रहा है जिससे इन तीनों मार्गों से आने वाले वाहन सुगमतापूर्वक गंगा पथ पर चढ़ सकें।
  • आम नागरिकों के धार्मिक एवं सामाजिक कार्य के लिए गंगा नदी के तट पर पहुंचने के लिए कुल 13 स्थानों पर अंडरपास बनाए जा रहे हैं।

2013 में शिलान्यास : खर्च हो चुके 1100 करोड़ रुपए

  • मुख्यमंत्री ने वर्ष 2013 में लोकनायक गंगा पथ शिलान्यास किया था। अब तक राज्य सरकार के फंड से इस परियोजना के लिए तय 1390 करोड़ में से 1100 करोड़ रुपए खर्च किये जा चुके हैं। वहीं हुडको से अतिरिक्त 2000 करोड़ रुपए की व्यवस्था की गई है।
  • जमीन पर निर्माण : दीघा से एएनसिन्हा इंस्टीच्यूट (5.9 किलोमीटर)  
  • एलिवेटेड निर्माण : एएन सिन्हा इंस्टीच्यूट से नुरुद्दीनघाट तक (10.5 किलोमीटर), नुरुद्दीनघाट से दीदारगंज चेकपोस्ट तक (2.9 किलोमीटर) और दीदारगंज चेकपोस्ट से गोपघाट तक (600 मीटर)   

छह जगहों पर अशोक राजपथ से एक्सप्रेस-वे पर चढ़ सकेंगी गाड़ियां और पीएमसीएच परिसर के लिए दी जा रही संपर्कता

1. एलसीटी घाट महावीर वात्सल्य अस्पताल के सामने से 2. एएन सिन्हा इंस्टीच्यूट गोलघर के सामने से 3. कृष्णा घाट साइंस कॉलेज के समीप से 4. गायघाट गांघी सेतु के बगल से 5. कंगन घाट पटना सिटी गुरुद्वारा के सामने से 6. पटना सिटी में पटना घाट से

दो टोल प्लाजा से वसूला जाएगा टोल

1. बांस घाट

2. दीदारगंज चेकपोस्ट धर्मशाला घाट के समीप

खबरें और भी हैं…



Source link