Home Bihar ऑपरेशन की दूर होगी बाधा: अब संक्रमित गर्भवती के प्रसव में नहीं होगी बाधा, वर्द्धमान आयुर्विज्ञान संस्थान में होगी डिलिवरी

ऑपरेशन की दूर होगी बाधा: अब संक्रमित गर्भवती के प्रसव में नहीं होगी बाधा, वर्द्धमान आयुर्विज्ञान संस्थान में होगी डिलिवरी

0
ऑपरेशन की दूर होगी बाधा: अब संक्रमित गर्भवती के प्रसव में नहीं होगी बाधा, वर्द्धमान आयुर्विज्ञान संस्थान में होगी डिलिवरी

[ad_1]

  • Hindi News
  • Local
  • Bihar
  • Patna
  • Bihar News; Now Delivery Of Infected Pregnant Will Not Be Hindered, Delivery Will Be Done In Vardhaman Institute Of Medical Sciences

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

पटना2 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक
  • पटना के प्रमंडलीय आयुक्त का आदेश, प्रसव पर भारी नहीं पड़े कोरोना,

नालंदा की कोरोना पॉजिटिव गर्भवती महिलाओं को अब प्रसव के लिए नहीं भटकना होगा। संक्रमण के बाद भी डिलीवरी की हर व्यवस्था की जाएगी। नॉर्मल से लेकर सिजेरियन तक के लिए व्यवस्था बढ़ाई जा रही है। पटना के प्रमंडलीय आयुक्त ने DM नालंदा और नालंदा वर्द्धमान आयुर्विज्ञान संस्थान अस्पताल के प्राचार्य व अधीक्षक एवं डॉक्टर के साथ वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग में यह आदेश दिया है।

कोरोना संक्रमितों की सुविधा को लेकर आदेश

प्रमंडलीय आयुक्त संजय कुमार अग्रवाल ने नालंदा के पावापुरी में स्थित वर्द्धमान आयुर्विज्ञान संस्थान अस्पताल में कोविड-19 मरीजों के लिए उपलब्ध सुविधा एवं व्यवस्था की समीक्षा की है। नालंदा के जिलाधिकारी और अस्पताल के प्राचार्य अधीक्षक को निर्देश दिया है कि किसी भी तरह की कोई समस्या नहीं होनी चाहिए। संक्रमितों को कहीं से कोई शिकायत नहीं मिले। बेहतर इलाज और व्यवस्था पर पूरा ध्यान दिया जाए।

संक्रमित गर्भवती को लेकर विशेष अलर्ट

आयुक्त ने कहा कि अस्पताल में कोविड पॉजिटिव गर्भवती महिलाओं के प्रसव की सफल एवं सुरक्षित प्रसव की व्यवस्था की जाए। इससे संक्रमित गर्भवती महिलाओं का स्थानीय स्तर पर अस्पताल में आसानी से गुणवत्तापूर्ण सुविधा मिले तथा उन्हें किसी दूरस्थ एवं खर्चीले अन्य अस्पताल में नहीं जाना पड़े। इसके लिए नॉर्मल एवं सिजेरियन दोनों प्रकार की व्यवस्था अस्पताल में करने का निर्देश दिया गया है। इसके लिए स्त्री एवं प्रसूति विभाग के विशेषज्ञ डॉक्टर एवं नर्स की तैनाती करने को कहा गया है। इसके साथ ही अस्पताल अधीक्षक को इस कार्य की सतत एवं प्रभावी मॉनिटरिंग का भी निर्देश दिया गया है।

नहीं टाला जाए कोई ऑपरेशन

कोविड संक्रमण के इस दौर में अस्पताल में ऑपरेशन की सुचारू एवं सुदृढ़ व्यवस्था सुनिश्चित करने को लेकर निर्देश दिया गया है। किसी भी दशा में ऑपरेशन नहीं टाला जाए। ताकि गरीब मरीजों को दूर के किसी खर्चीले अस्पताल का चक्कर नहीं लगाना पड़े बल्कि गरीबों को जनहित में स्थानीय स्तर पर ही सहज रूप में विशेषज्ञ डॉक्टर के माध्यम से उच्च कोटि के ऑपरेशन की सुविधा उपलब्ध हो सके। इसके लिए अस्पताल में विशेषज्ञ डॉक्टर, नर्स एवं स्वास्थ्य कर्मी की प्रतिनियुक्ति करने एवं जनहित में शीघ्र सेवा मुहैया कराने.को कहा गया है। आयुक्त ने अस्पताल में अन्य आवश्यक संसाधन सुनिश्चित करने तथा जनहित में आम लोगों को जानकारी देने को कहा है।

DM को हॉस्पिटल में मॉनिटरिंग का आदेश

आयुक्त ने डीएम नालंदा को समय-समय पर अस्पताल का विजिट करने तथा स्वास्थ्य सेवा में सुधार के लिए अपेक्षित कार्रवाई करने का दिया निर्देश दिया गया है। उन्होंने जिलाधिकारी नालंदा को अस्पताल की व्यवस्था में सुधार लाने तथा गुणवत्तापूर्ण स्वास्थ्य सेवा प्रदान करने के लिए समय-समय पर अस्पताल का निरीक्षण करने तथा अस्पताल की व्यवस्था एवं मरीजों को प्रदत्त सुविधाओं का जायजा लेने का निर्देश दिया।

गांव-गांव टेस्टिंग टीकाकरण का निर्देश

आयुक्त ने नालंदा के ग्रामीण क्षेत्रों में टेस्टिंग और टीकाकरण अभियान में तेजी लाने का निर्देश दिया है। आयुक्त को बताया गया कि नालंदा जिले में अब तक 288814 व्यक्तियों तथा 24 मई को 4400 व्यक्ति का टीकाकरण हुआ है। आयुक्त ने शहरी क्षेत्र के साथ साथ ग्रामीण क्षेत्र में भी टेस्टिंग एवं टीकाकरण अभियान तेज करने का निर्देश दिया है।

खबरें और भी हैं…

[ad_2]

Source link