औरंगाबाद में मतदान के बाद फायरिंग: चुनावी रंजिश में दो मुखिया प्रत्याशी भिड़े, लाठी-रॉड से हमला, करीब 8 लोग घायल

0
17


औरंगाबाद6 घंटे पहले

  • कॉपी लिंक

अस्पताल में भर्ती घायल।

औरंगाबाद जिले के अति नक्सल प्रभावित क्षेत्र मदनपुर में सातवें चरण के मतदान के बाद दो मुखिया प्रत्याशियो में भिड़ंत हो गई। सोमवार की शाम करीब 7 बजे दोनों पक्षों के बीच फायरिंग भी हुई। दोनों मुखिया समर्थकों के बीच लाठियां और रॉड भी चली। मारपीट में करीब 8 लोग घायल हो गए हैं।

बूथ पर हुआ था विवाद

घायल प्रेमचंद्र शेखर ने बताया कि मेरी पत्नी शोभा देवी मुखिया प्रत्याशी के तौर पर गोडीहरी पंचायत से चुनाव मैदान में खड़ी है। मतदान के दौरान शाम 4:30 बजे बूथ संख्या 75/76 पर मतदान करने पहुंचे थे। इस दौरान मुखिया प्रत्याशी पम्मी सिंह के पति पवन कुमार सिंह और उनके भाई पंकज कुमार सिंह से विवाद हो गया। वहां मौजूद पुलिस ने सभी लोगों को हटा दिया। मतदान खत्म होने के बाद शाम 7 बजे के करीब 50 से अधिक लोग लाठी, डंडा से हमला बोल दिया।

घायलों में गोडिहिरी पंचायत के आट गांव निवासी 48 वर्षीय प्रेमचन्द्र शेखर, उनके साले बब्लू सिंह समेत कई लोग हैं। वहीं, आरोपी पवन कुमार सिंह देवझारा गांव का रहने वाला है। उसका भाई शरण कुमार सिंह की पत्नी गोडिहिरी पंचायत से मुखिया थी। लेकिन, घोटाले के आरोप में फंसने कि वजह से इस बार चुनाव नहीं लड़ रही थी। उसकी जगह पवन सिंह की पत्नी पम्मी देवी मुखिया पद के लिए उम्मीदवार थीं।

क्या बोले एसपी

वहीं, इस मामले में एसपी कांतेश कुमार मिश्रा ने बताया कि दो मुखिया प्रत्याशी के समर्थकों के बीच आपसी रंजिश में मारपीट हुई है। दोनों पक्षों की तरफ से आवेदन दिए गए हैं, जिस पर कार्रवाई की जाएगी। एसपी ने कहा कि इस दौरान फायरिंग की सूचना है। लेकिन, अंधेरा होने के कारण खोखा बरामद नहीं किया जा सका है। घटना के बाद गांव में एसडीपीओ, एसडीओ भारी पुलिस बल तैनात कर दी गई है। फिलहाल हालात नियंत्रण में है।

खबरें और भी हैं…



Source link