औरंगाबाद में युवक ने की पत्नी की हत्या: नशे में पहले की पिटाई, फिर गला दबाकर मार डाला

0
19


औरंगाबाद20 मिनट पहले

औरंगाबाद में नशे में पति ने पहले पत्नी की जमकर पिटाई की। इससे भी जी नहीं भरा तो उसने गला दबाकर हत्या कर दी। मामला रफीगंज थाना क्षेत्र के चांद बिगहा गांव की है। मृतका 23 वर्षीय विवाहिता लालो देवी उसी गांव निवासी बालमीकी यादव की पत्नी थी। घटना की सूचना मिलते ही पुलिस शव को अपने कब्जे में लेकर कार्रवाई शुरू कर दी है। वहीं पोस्टमार्टम के लिए शव को औरंगाबाद सदर अस्पताल भेज दिया।

जहां से पोस्टमार्टम के बाद शव परिजनों को सौंप दिया गया। घटना के बाद से मृतका के मायकेवालों का रो-रोकर बुरा हाल है। वहीं आरोपी ससुरालवाले फरार चल रहे हैं। जिनकी गिरफ्तारी के लिए पुलिस छापेमारी कर रही है। इस संबंध में रफीगंज थानाध्यक्ष रामइकबाल यादव ने बताया कि मामले में एफआईआर दर्ज की जा रही है। आरोपियों को बख्शा नहीं जाएगा। कड़ी कार्रवाई की जाएगी।

विवाहिता की भाभी बोली-पति कहता था मेरे लायक नहीं है लालो, हमेशा करता था प्रताड़िता

मृतका के भाभी मुफस्सिल थाना क्षेत्र के अकौना गांव निवासी पिंकी देवी ने बतायी कि उसकी ननद लालो की शादी 2015 में चांद बिगहा गांव निवासी दिनेश यादव के बेटे बालमीकी यादव से हुई थी। उस समय अपनी क्षमता के अनुसार उपहार भी दिया गया था, लेकिन पति बालमीकी यादव द्वारा कहा जाता था कि लालो मेरे लायक नहीं है। इस बात को लेकर हमेशा उनकी ननद के साथ मारपीट की जाती थी। वहीं बाइक व चेन की डिमांड भी शादी बाद किया गया। उसे भी पूरा किया, लेकिन फिर भी वह नहीं माना और हमेशा मारपीट करता था। गुरूवार की दोपहर नशे में घर पहुंचा और पहले मारपीट की, फिर गला दबाकर हत्या कर दिया।

मौत होने पर लेकर पहुंचा था अस्पताल, चुपके से करना चाहता था अंतिम संस्कार
गुरूवार की दोपहर मारपीट के कारण लालो की मौत हो गई। जिसके बाद परिजनों ने सोचा कि शायद बेहोश हो गई है। जिसके बाद वे लोग रफीगंज सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र लेकर पहुंचे। जहां ड्यूटी में तैनात डॉ. एके केसरी ने मृत घोषित कर दिया और पूर्जा कटवाने की बात कही। जिसके बाद परिजन शव को अस्पताल से लेकर फरार हो गए। बगैर मृतका के मायकेवालों को सूचना दिए ही शव का अंतिम संस्कार करना चाहते थे, लेकिन गांव के किसी व्यक्ति ने इसकी सूचना मृतका के मायकेवालों को दे दी। जिसके बाद मृतका के पिता के पिता रामजनम यादव व भाई विक्रम यादव चांद बिगहा पहुंचा। जहां देखा कि लालो की जलाने की तैयारी चल रही है। जिसके बाद पुलिस को सूचना दिया। सूचना मिलने के काफी देर बाद पुलिस गांव पहुंची। तब तक ससुरालवाले फरार हो चुके थे।

खबरें और भी हैं…



Source link