कटिहार में परिवार के मुखिया की मौत: पति और दो बच्चों के साथ श्राद्ध कर्म में शामिल होने जा रही थी, रास्ते में पति ने तोड़ा दम

0
9


कटिहार14 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक

पीड़ित महिला।

कटिहार के गेराबाड़ी में श्राद्ध कार्यक्रम में हिस्सा लेने के लिए पति-पत्नी अपने दो बच्चों के साथ रेलवे स्टेशन पहुंचे थे। लेकिन देर रात हो जाने के कारण उस परिवार को अपने गंतव्य स्थल गेड़ाबाड़ी तक जाने के लिए कोई वाहन नहीं मिला । बाद में पूरा परिवार ने स्टेशन परिसर स्थित एक पेड़ के नीचे ही ठंड में अपना डेरा डाल लिया और सभी सदस्य चादर बिछाकर सो गए। जब अहले सुबह पत्नी सो कर उठी और अपने पति को उठाने गई तो वह नहीं उठा। काफी हिलाने डुलाने पर भी जब वह नहीं उठा तो पत्नी को कुछ समझ में नहीं आया। ऐसे में पत्नी चीख-पुकार मचाने लगी। यह सुनकर आसपास के लोग देखने आए तो पता चला कि उसकी मौत हो चुकी थी। बता दें कि मृतक का नाम बब्बू सिंह है जो मुरादाबाद निवासी था।

वहीं, परिवार के मुखिया की अचानक मौत हो जाने के बाद पत्नी एवं दोनों बच्चे बिलक बिलक कर रोने लगे । पत्नी के द्वारा जिस जगह श्राद्ध कार्यक्रम में लिए जाना था वहां संपर्क किया गया। लेकिन वहां से भी इन्हें दुत्कार दिया गया। बाद में रेलवे के कर्मचारियों के द्वारा इसकी जानकारी सहायक थाना पुलिस को दी गई। पुलिस मौके पर पहुंचकर शव का पंचनामा कर उसका अंतिम संस्कार किया।

मृतक बब्बू सिंह की पत्नी हेमा देवी ने बताया कि उनकी मां का आज देहांत हो गया था और वह श्राद्ध कार्यक्रम में हिस्सा लेने के लिए मुरादाबाद से कटिहार पहुंचे थे। लेकिन अचानक रात में ऐसा क्या हुआ जिनसे उनके पति की मौत हो गई। महिला ने बताया कि रात 3 बजे तक वे सभी जगे हुए थे और जब सुबह उठे तो अचानक उनके पति की मौत हो गई थी और उनके पति के पैकेट में रखे सारे पैसे भी गायब हो गए। पास में पैसे नहीं रहने के कारण अपने बच्चों को खाना तक भी नहीं दे पाई। बाद में सहायक थाना पुलिस ने दरियादिली दिखाई और शव का अंतिम संस्कार कराया और पूरे परिवार को फिर मुरादाबाद भेजा।

खबरें और भी हैं…



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here