कुख्यात मस्तू और उसके साथी को गोलियों से भूना: पटना के बाइपास में तीन थानों के बॉर्डर पर डबल मर्डर, गोलीबारी से थर्राया इलाका

0
27


पटना22 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक

दोनों मृतकों की तस्वीर।

पटना के बाइपास में डबल मर्डर हो गया है। एक फोर व्हीलर से जा रहे दो लोगों को अपराधियों ने ताबड़तोड़ फायरिंग कर गोलियों से भून दिया, जिसमें दोनों की मौत हो गई। पटना के सिटी एसपी ईस्ट जितेंद्र कुमार ने इसकी पुष्टि की है। जिन दो लोगों की हत्या हुई है, उसमें एक की पहचान अपराधी अभिषेक कुमार उर्फ मस्तू के तौर पर हुई है। जबकि, दूसरा शख्स सुनील कुमार उसका साथी था।

शनिवार की देर शाम दोनों एक फोरव्हीलर से जा रहे थे। तभी बाइपास में कसेरा धर्मकांटा के पास एक बाइक से आए दो अपराधियों ने इन्हें घेरा और फिर फायरिंग शुरू कर दी। अब तक जो जानकारी मिली है, उसके अनुसार वारदात स्थल पर 6 से अधिक गोलियां अपराधियों ने चलाई थी।

लगातार फायरिंग की आवाज सुनकर बाइपास इलाके में लोगों के बीच खलबली मच गई। जिस जगह पर यह वारदात हुई, वो राजधानी के तीन थानों, बाइपास, मेहदीगंज और अगमकुआं के बॉर्डर पर है। वारदात की जानकारी मिलते ही पुलिस की टीम मौके पर पहुंची।

कुख्यात अपराधी रहा है अभिषेक
अपराधियों ने अभिषेक के सिर में गोली मारी है। इस कारण उसकी मौत मौके पर ही हो गई। जबकि, सुनील के मौत की पुष्टि NMCH पहुंचने के बाद हुई। फोर व्हीलर को सुनील चला रहा था, जबकि, अभिषेक उसके बगल की सीट पर बैठा था। वारदात स्थल के आसपास लगे सीसीटीवी को खंगालने की कोशिश में है।

सिटी एसपी के अनुसार अभिषेक एक कुख्यात अपराधी रहा है। उसकी क्रिमिनल हिस्ट्री रही है। चौक, खांजेकला, बेऊर, सुलतानगंज थाना सहित पटना और मुजफ्फरपुर में आपराधिक वारदातों को अंजाम दे चुका है। पुलिस का दावा है कि चर्चित गुंजन खेमका मर्डर केस में भी इसका नाम आया था। उस केस में भी चार्जशीटेड रहा है।

हालांकि, सूत्रों का दावा है कि अभिषेक पटना पुलिस का इंफॉमर भी था। हत्या के पीछे की वजह क्या है? यह अभी स्पष्ट नहीं हो पाया है। लेकिन, जमीन विवाद की बात सामने आ रही है। जांच पूरी होने के बाद स्थिति साफ हो जाएगी।

खबरें और भी हैं…



Source link