कोर्ट से फरार बंदियों ने 24 घंटे में किया आत्मसमर्पण: जमानत याचिका खारिज होने के बाद दानापुर व्यवहार न्यायालय परिसर से फरार हो गए थे बंदी

0
11


दानापुर14 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक

दानापुर व्यवहार न्यायालय।

दानापुर व्यवहार न्यायालय से मंगलवार को फरार सातों बंदियों ने 24 घंटे के अंदर कोर्ट में समर्पण कर दिया है। न्यायालय में समर्पण के बाद उन्हें पुलिस कस्टडी में लेकर कड़ी सुरक्षा के बीच जेल भेज दिया गया है। मंगलवार को दानापुर व्यवहार न्यायालय से ऑनलाइन सरेंडर करने के बाद पेशी को लेकर आए 9 बंदियों में से 7 बंदी की जमानत याचिका खारिज होने के बाद वे फरार हो गए थे।

रातभर चलती रही छापेमारी
बंदियों के फरार होने के बाद पुलिस महकमे में हड़कंप मच गया था। पुलिस के अधिकारियों ने फरार बंदियों की तलाश में दानापुर सहित पालीगंज के आसपास के इलाकों में सघन छापेमारी की। रातभर चली छापेमारी के बाद भी फरार बंदियों का कहीं अता पता नहीं चला था। फरार बंदियों में पालीगंज के नरौली मठिया निवासी सोनू यादव, कल्लू यादव, सिद्धनाथ यादव, उपेंद्र यादव, चंदन कुमार, मुकुल कुमार, राज कुमार शामिल थे।

मारपीट और गोलीबारी के मामले में थे आरोपी

सातों के फरार होने के बाद इस मामले में ACJM तृतीय की पीठ कार्यालय लिपिक अरविंद कुमार ने दानापुर थाने में मामला दर्ज कराया था। मामला दर्ज होते ही पुलिस हरकत में आई और फरार बंदियों की तलाश में ताबड़तोड़ छापेमारी शुरू कर दी। पुलिस को इस संबंध में कई जानकारियां भी मिल रही थीं। उन जानकारियों के आधार पर पुलिस ने कई जगहों पर छापेमारी भी की, लेकिन उन्हें कोई सफलता हाथ नहीं लगी। बुधवार को न्यायालय शुरू होते हैं फरार सातों बंदियों ने दानापुर व्यवहार न्यायालय में खुद समर्पण कर दिया। दानापुर पुलिस इसे अपनी सफलता समझकर खुद की पीठ थपथपा रही है।

खबरें और भी हैं…



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here