कोल्ड वेव की चपेट में गया, तापमान 4.1 डिग्री पहुंचा: जिला प्रशासन ने स्कूलों को दिया निर्देश, अब 9 बजे से पहले नहीं चलेंगी कक्षाएं

0
21


गया26 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक

गया में दिन व रात का पारा सामान्य से काफी नीचे है। (प्रतीकात्मक तस्वीर)

गया में गिरते तापमान और विशेष रूप से सुबह के समय अत्यधिक ठंड पड़ने के कारण छोटे बच्चों के स्वास्थ्य और जीवन पर प्रतिकूल प्रभाव पड़ने की आशंका को देखते हुए जिला प्रशासन ने स्कूल में पठन पाठन की समय सीमा तय किया है। DM अभिषेक सिंह द्वारा दंड प्रक्रिया संहिता, 1973 की धारा 144 के तहत 21 दिसंबर, 2021 से अगले आदेश तक जिले के सभी विद्यालयों में सुबह 09:00 बजे से पहले व अपराह्न 03:30 बजे के बाद सभी स्कूलों के कक्षाओं के लिए शैक्षणिक गतिविधियों पर प्रतिबंध लगाया गया है।

मसलन 9 बजे के पहले अब कोई पठन पाठन का काम स्कूल में नहीं होगा। क्लास नहीं लगेंगे। सभी विद्यालय प्रबंधन को निदेश दिया गया है कि वे आदेश के अनुरूप शैक्षणिक गतिविधियों को पुनर्निधारित करना सुनिश्चित करेंगे। गौरतलब है कि बीते चार दिनों से शीत लहर चल रही है। इसकी वजह से ठंड काफी बढ़ गई है। रविवार को प्रदेश भर में जिले में सबसे अधिक ठंड थी।

सोमवार की शाम ठंड का तापमान गया में 4.1 डिग्री आंका गया। हालांकि दोपहर में धूप निकलने की वजह से लोगों को कुछ हद तक राहत मिल रही है। लेकिन दोपहर 3 बजे के बाद से ही ठंड लोगों को कंपाने लग रहा है।

4 घंटे में एक डिग्री नीचे लुढ़का न्यूनतम पारा

गया का न्यूनतम तापमान पिछले 24 घंटे में एक डिग्री नीचे लुढ़का है। तापमान की बात करें तो सोमवार को जिले का अधिकतम तापमान 20.8 डिग्री व न्यूनतम तापमान 4.1 डिग्री सेल्सियस रिकॉर्ड किया गया है। नमी सुबह में 81 फीसदी तो शाम में 66 फीसदी दर्ज की गई है। वहीं रविवार को जिले का अधिकतम तापमान 20.1 डिग्री व न्यूनतम तापमान 5.3 डिग्री सेल्सियस रिकॉर्ड किया गया था।

सामान्य से नीचे है दिन व रात का पारा

मौसम विभाग से मिली जानकारी के अनुसार गया में दिन व रात का पारा सामान्य से काफी नीचे है। दिन का पारा जहां चार डिग्री तो रात का पारा पांच डिग्री सामान्य से कम है। दोनों तापमान गिरने से जिलेवासियों को सुबह के साथ-साथ रात को सर्दी खूब सता रही है। ठंडी हवा चलने से कनकनी भी बढ़ गई है। मौसम विभाग के अनुसार, अभी फिलहाल जिलेवासियों को सर्दी से कोई राहत मिलने की उम्मीद नहीं है। निर्देश प्रभावी रहेगा।

खबरें और भी हैं…



Source link