गया में स्टूडेंट की मौत बनी पहेली: नामजद आरोपी शिक्षक पुलिस की गिरफ्त से दूर, परिजन जता रहे अनहोनी की आशंका

0
21


गयाएक घंटा पहले

  • कॉपी लिंक

एसएसपी हरप्रीत कौर और मृतक छात्र के परिजन।

बीती 16 फरवरी को गया के GD Goenka पब्लिक स्कूल में मारे गए आठवीं के स्टूडेंट्स की मौत की गुत्थी पुलिस सुलझा नहीं पा रही। उलटा पुलिस के वरीय अफसर कुछ वर्ष पूर्व दिल्ली के स्कूल में मारे गए छात्र की मौत की कहानी सुनाकर मृतक छात्र के हौसले को तोड़ने में जुटे हैं।

दरअसल, एसएसपी हरप्रीत कौर ने दिल्ली के स्कूल में मारे गए छात्र के बारे में कहा कि पोस्टमार्टम रिपोर्ट आ गई है। उसमें एक्सर्टनल व इंटर्नल इंज्यूरी बताया नहीं गया है। लिहाजा बिसरा जांच को भेजा गया है। डॉक्टरों ने अब तक स्पष्ट कुछ नहीं लिखा है।

आरोपी शिक्षक की गिरफ्तारी के मसले पर एसएसपी का कहना है कि छापेमारी की गई है। लेकिन वह हाथ नहीं आया है। शिक्षक उड़ीसा का रहने वाला है और फरार है। यानी जिला पुलिस अब हाथ पर हाथ धरे बैठी है और शिक्षक का इंतजार कर रही है कि वह खुद ही आकर अपनी गिरफ्तारी देगा।

इधर जीडी पब्लिक स्कूल में 16 फरवरी को स्कूल की छुट्‌टी के समय मारे गए छात्र कृष्ण प्रकाश के पिता का कहना है कि हमें अब तक न्याय नहीं मिला। मेरा बेटा जन्म से लेकर अब तक स्वस्थ था। उसे बेरहमी से शिक्षक सुवेंदु द्वारा पिटा गया। जिसकी वजह से उसकी मौत हुई है। इस घटना के करीब एक महीने होने को हैं लेकिन कोई भी तकनीकी तथ्य नहीं मिला है कि हम अपने बच्चे को एक अनहोनी मान लें।

इससे साफ होता है कि शिक्षक द्वारा उसकी हत्या की गई है और स्कूल प्रबंधन सीधे तौर पर दोषी है। क्यों कि स्कूल के 28 कैमरे में से आधे से अधिक खराब पड़े थे। उन कैमरों की बैट्री महीनों से डंडे पड़ी थी। यही नहीं जिस दिन घटना हुई है। उस दिन लंच के समय चार बच्चों को सुवेंदु द्वारा बेरहमी से पिटा गया।

इस बात की गवाही वे बच्चे दे रहे हैं लेकिन उन बच्चों से अब तक बातचीत करने के लिए न तो पुलिस गई और न ही मुझे उनके पास ले गई। उन्होंने कहा कि बेशक इसे मैनेज करने में लोग जुटे हों पर इस मामले को लेकर जहां तक संभव को होगा वहां तक हम हर संभव लड़ाई लड़ेंगे। ताकि भविष्य में किसी और अभिभावक के साथ ऐसी घटना न हो।

खबरें और भी हैं…



Source link