जब वेस्ट इंडीज ने दूसरी बात टी 20 विश्व कप जीता, कार्लोस ब्रैथवेट के 4 छक्कों ने मचाई थी उस्नी

0
31


नई दिल्ली: वेस्टइंडीज (वेस्टइंडीज) दुनिया की इकलौती टीम है जिसने वनडे और टी -20 फॉर्मेट में पुरुष विश्व कप (विश्व कप) दो-दो बार जीता है। आज से ठीक 5 साल पहले यानी 3 अप्रैल 2016 को केनबियाई टीम डैरेन सैमी (डैरेन सैमी) की कप्तानी में दूसरी बार टी -20 की वर्ल्ड चैंपियन बनी थी।

फाइनल मैच

कोलकाता (कोलकाता) के ईडन गार्डन्स (ईडन गार्डन्स) में टॉस हारकर पहले बल्लेबाजी करने उतरी इंग्लैंड (इंग्लैंड) की टीम ने 20 ओवर में 9 विकेट खोकर 155 रन बनाए। अंग्रेजों की तरफ से जो रूट (जो रूट) ने सबसे ज्यादा 54 रन की पारी खेली। रूट के अलावा कोई भी अंग्रेजी पत्रकार फिफ्टी नहीं लगाया गया।

यह भी पढ़ें- IPL 2021: सिराज और चहल कर रहे थे बात, बीच में धनश्री, पूछे गए कई सवाल

मार्लोन सैमुअल्स ने दम दिखाया

वेस्टइंडीज को 156 रन का लक्ष्य बेहद आसान सा नजर आ रहा था, लेकिन इंग्लैंड ने केनबियाई टीम के पसीने छुड़ा दिए। जो रूट ने विंडीज के पहले 2 विकेट महज 5 रन के स्कोर पर ही झटक लिए। इसके बाद मार्लोन सैमुअल्स (मार्लोन सैमुअल्स) ने धमाकेदार पारी खेली 66 गेंदों में 85 रन बनाए और वेस्टइंडीज को थोड़ा राहत दी।

कार्लोस ब्रेथवेट का 6,6,6,6

वेस्टइंडीज को आखिरी ओवर में जीत के लिए 19 रनों की जरूरत थी। इंग्लैंड के कप्तान इयोन मोर्गन ने काफी भरोसे के साथ बेन स्टोक्स को गेंद थमाई। ऐसा लग रहा था कि स्टोक्स नैबाई टीम को रोकने में कामयाब रहना होगा। लेकिन कार्लोस ब्रेथवेट अलग ही मूड में थे। उन्होंने ओवर की पहली ही 4 गेंदों पर लगातार 4 छक्के जड़कर विंडीज को दूसरी बार टी -20 क्रिकेट का चैंपियन बना दिया।

ब्रेथवेट के सिक्स ने दिलाई धोनी की याद दिला दी

मैच आखिरी ओवर में कार्लोस ब्रेथवेट (कार्लोस ब्रैथवेट) से इतनी टीथतोड़ बल्लेबाजी की उम्मीद किसी को नहीं थी क्योंकि पूरे विश्व कप में उनका बल्ला खामोश रहा था। ब्रेथवेट के ये छ्क्के उसी तरह अमर हो गए जैसे विश्व कप 2011 के फाइनल में एमएस धोनी (एमएस धोनी) का छ्क्का क्रिकेट की दुनिया में यादगार बन गया।

स्टोक्स इंग्लैंड के विलेन बने

बेन स्टोक्स (बेन स्टोक्स) ने भले ही अपने करियर में इंग्लैंड को कई शानदार कामयाबी दिलाई है, लेकिन इस मैच में उनकी टीम के विलेन बन गए। वे कार्लोस ब्रेथवेट (कार्लोस ब्रैथवेट) की विरासत को रोकने में नाकाम रहे। इसके साथ ही इंग्लिश टीम ने टी -20 विश्व कप (टी 20 विश्व कप) जीतने का सुनहरा मौका गंवा दिया।





Source link