ठगी की वारदात: जैविक खाद की डीलरशिप के नाम पर 52 लाख की ठगी, ग्रीनअर्थ बायोटेक्नोलॉजी के नाम पर कार्यालय खोला

0
12


बेगूसराय2 घंटे पहले

  • कॉपी लिंक

थाना में दर्ज एफआईआर।

जैविक खाद की डीलरशिप और डिस्ट्रीब्यूटरशिप देने के नाम पर शातिरों ने बेगूसराय, नवादा और पटना के 17 लोगों से 52 लाख रुपए ठग लिये हैं। हालांकि जांच होने पर ठगी की रकम करोड़ों रुपए तक पहुंच सकती है। इस संबंध में नगर और खोदावंदपुर थाने में पीड़ित ने एफआईआर भी दर्ज कराई है। जालसाजों ने ठगी के लिए लाखो सहायक थाना के पास एसबीआई ब्रांच के भवन में ग्रीन अर्थ बायो टेक्नोलॉजी के नाम पर कार्यालय खोला।

फिर घूम-घूम कर लोगों, व्यवसायी और किसानों को डीलरशिप और डिस्ट्रीब्यूटरशिप का प्रलोभन देकर रुपए ठगे। बरौनी के केशावे निवासी विकास कुमार ने नगर थाना में एफआईआर दर्ज कराई है। जिसमें 16 लोगों से 43 लाख 73 हजार 929 रुपये ठग लेने का आरोप लगाया गया है। इसमें यूपी के सुनील सिंह,अभिषेक सिंह, सोनू सिंह, रामचंद्र शुक्ल और दिलीप सिंह को नामजद किया गया है।

दूसरे मामले में सवा 7 लाख की ठगी का केस

ग्रीन अर्थ बायोटेक्नोलॉजी का मैनेजर बता कर डीलरशिप के नाम पर मणिपाल ट्रेडर्स, मिर्जापुर के मालिक तरूण कुमार से सवा 7 लाख रुपए ठग लिए। इस संबंंध में पीड़ित ने खोदावंदपुर थाने में मामला दर्ज कराया है। पीड़ित का कहना है कि दिसम्बर में दो-तीन लोग आए और सवा सात लाख रुपए ट्रांसफर करवाए।

पटना के व्यक्ति से 2.86 लाख रुपए ठगे

शातिरों ने पटना जिला के बादपुर मरांची के धैर्य प्रसाद सिंह से 286000 रुपए, नवादा के वासलीगंज के मुकेश कुमार सिंह से 235000, बरौनी के केशावे निवासी विकास कुमार से 953000 रुपए, फुलवड़िया के शोकहारा निवासी रामकुमार से 295000 व रवि कुमार से 6450, मुफ्फसिल थाना क्षेत्र के रजौड़ा, सिकंदरपुर निवासी मनोज कुमार सिंह से 580000, विष्णुपुर मिर्जापुर वंद्वार के मनीष कुमार से 446300, विनोदपुर के साकेत सत्यम से 630000, बहदरपुर के नीरज कुमार से 305000, धबौली के कुंदन कुमार से 308114, शाम्हों थाना क्षेत्र के सरलाही के शशिभूषण सिंह से 269000 रुपये ठगे।

दूसरे मामले में सवा 7 लाख की ठगी का केस

ग्रीन अर्थ बायोटेक्नोलॉजी का मैनेजर बता कर डीलरशिप के नाम पर मणिपाल ट्रेडर्स, मिर्जापुर के मालिक तरूण कुमार से सवा 7 लाख रुपए ठग लिए। इस संबंंध में पीड़ित ने खोदावंदपुर थाने में मामला दर्ज कराया है। पीड़ित का कहना है कि दिसम्बर में दो-तीन लोग आए और सवा सात लाख रुपए ट्रांसफर करवाए।

खबरें और भी हैं…



Source link