निर्णय: विवि के पीजी विभागों को दैनिक खर्च के लिए मिलेगी कंटिजेंसी,फैकल्टी की कमी दूर करने को लेकर डीन को रिपोर्ट देने का दिया निर्देश

0
32


  • Hindi News
  • Local
  • Bihar
  • Muzaffarpur
  • The PG Departments Of The University Will Be Given A Directive To Report To The Dean For Removing The Shortage Of Faculty, Faculty, For Daily Expenses.

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

मुजफ्फरपुर6 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक

गेस्ट हाउस में पीजी विभागाध्यक्षों व विवि अधिकारियों के साथ बैठक करते कुलपति।

  • कुलपति ने विभागाध्यक्षों एवं डीन के साथ बैठक कर सुनीं उनकी समस्याएं

बीआरए बिहार विश्वविद्यालय के पीजी विभागों को दैनिक खर्च के लिए कंटीजेंसी मिलेगी। बिना प्रैक्टिकल वाले विभागों को 10 हजार एवं प्रैक्टिकल वाले विभागों को 15-15 हजार रुपए दिए जाएंगे। राशि खर्च करने के बाद आगे और राशि मिलेगी। फैकल्टी की कमी दूर करने के लिए डीन को अपने-अपने संकाय की समीक्षा कर रिपोर्ट देने का निर्देश दिया गया है। गुरुवार को गेस्ट हाउस में कुलपति डॉ. हनुमान प्रसाद पाण्डेय की

अध्यक्षता में हुई डीएन एवं विभागाध्यक्षों की बैठक में यह निर्णय लिया गया। वीसी ने विभागाध्यक्षों से समस्या सुनी और पढ़ाई का बेहतर माहौल बनाने के लिए विभागों को वाइब्रेंट बनाने का निर्देश दिया। विभागाध्यक्षों ने शिक्षकों की कमी और दैनिक खर्च के लिए राशि नहीं होने की समस्या बताई। हर विभाग में 4-4 वरिष्ठ शिक्षकों की नियुक्ति होनी है।

प्रॉक्टर डॉ. अजीत कुमार ने कहा कि विभागों को न्यू एजुकेशन पॉलिसी एवं अन्य मुद्दों पर वेबिनार करने एवं अगले माह तक विभागों को सुचारू रूप से सुबह 10 बजे से शाम 5 बजे तक क्लास चलाने को कहा है। वे खुद भी विभाग का निरीक्षण करेंगे। भवन की मरम्मत में देरी के लिए इंजीनियरिंग सेक्शन के पदाधिकारी पर नाराजगी जताई।

एबीएस कॉलेज समेत 2 संबद्ध कॉलेजों के अनुदान को लेकर कागजातों की हुई जांच
शिक्षकों के आंदोलन के बाद एबीएस कॉलेज समेत 2 कॉलेजों को अनुदान के लिए कागजातों की जांच हुई। जल्द ही अनुदान जारी किया जाएगा। विवि के 17 अनुदानित कॉलेजों में 10 कॉलेजों का अनुदान आया है। इनमें 2 कॉलेजों को अनुदान जारी हो चुका है। 7 कॉलेजों का अनुदान अभी सरकार स्तर पर जांच में ही फंसा है।

खबरें और भी हैं…



Source link