पटना में करोड़ों की ठगी करने वाले तीन गिरफ्तार: चेकिंग के दौरान दबोचे गए, नौकरी और एडमिशन के नाम पर ठगते थे पैसे

0
45
पटना में करोड़ों की ठगी करने वाले तीन गिरफ्तार: चेकिंग के दौरान दबोचे गए, नौकरी और एडमिशन के नाम पर ठगते थे पैसे


पटनाएक घंटा पहले

  • कॉपी लिंक

पटना के पत्रकार नगर थाने की पुलिस ने शुक्रवार को तीन शातिरों को हिरासत में लिया। 

  • पुलिस ने कार से दो रजिस्टर और फोन किया बरामद

पटना के पत्रकार नगर थाने की पुलिस ने शुक्रवार को तीन शातिरों को हिरासत में लिया। बाइपास रोड के समीप रूटीन चेकिंग के दौरान पुलिस ने तीनों को पकड़ा। इन पर नौकरी के नाम पर ठगी करने का आरोप लगा था। वहीं, इस दौरान एक शातिर फरार होने में सफल रहा। पकड़े गए शातिरों में विक्की, सतीश और रणधीर शामिल हैं।

छानबीन में पुलिस को इनकी कार पर पुलिस का स्टिकर चिपका हुआ मिला। वहीं, कार के अंदर से दो रजिस्टर और तीन मोबाइल फोन बरामद किया गया। जहां दोनों रजिस्टर में करोड़ों रुपए के लेन-देन का हिसाब मिला।

उधर, जब देर रात शातिरों की प्रारंभिक छानबीन की गई तो पता चला कि तीनों शातिर एडमिशन के नाम पर ठगी का खेल चलाते थे। तीनों देश के किसी भी कॉलेज में दाखिला या उसकी डिग्री दिलवाने के नाम पर पैसे एठते थे।

वहीं, खोजबीन में पुलिस को नौकरी दिलवाने से संबंधित करोड़ों रुपए के लेनदेन के पुख्ता सबूत हाथ लगे। पुलिस को इन शातिरों के पास से बरामद मोबाइल फोन से भी कई अहम जानकारियां हाथ लगी। इन तीनों में से एक पुलिस अधिकारी का परिवार बताया जा रहा।

कार की डैश बोर्ड से बरामद से बरामद हुए कई दस्तावेज ।

पुलिस ने रुकने का किया इशारा तो गाड़ी से निकल कर भाग निकला एक शातिर

दरअसल पत्रकार नगर थाने की पुलिस बाइपास के पास चेकिंग कर रही थी। इसी दौरान एक ब्लू रंग की बोलेनो कार जिसपर पुलिस का स्टिकर चस्पा लगा था वह चेकिंग पॉइंट से गुजरी। पुलिस ने कार को रोकने का इशारा किया तो तीनों कार लेकर भागने लगे। जिसे देख मौके पर मौजूद पुलिसकर्मियों ने खदेड़ कर कार रुकवाया और तीनों शातिरों को पकड़ लिया। इसके बाद पुलिस टीम ने तलाशी ली तो कार से दो रजिस्टर के साथ तीन मोबाइल फोन और कुछ कागजात बरामद हुए।

मौके पर मौजूद पुलिसकर्मियों ने जब कार से बरामद रजिस्टर को खंगालना शुरू किया तो उस रजिस्टर में कई लोगों के नाम अंकित थे। उस रजिस्टर से नौकरी या फिर कॉलेजों में दाखिला और डिग्री दिलाने के नाम पर लिए गए करोड़ों रुपए के लेन-देन की जानकारी अंकित मिली।

जिसके बाद पुलिस ने जब इनसे पूछताछ की तो बताया गया कि इस पूरे गिरोह का मास्टरमाइंड सतीश है। वह लोगों से पैसे की वसूली करने के लिए आज ही पटना पहुंचा था। इस दौरान सतीश और विकास ने रणवीर के घर पर खाना खाया और जैसे ही वह बाइपास की ओर निकले की पुलिस ने उन्हें धर दबोचा। हालांकि इस दौरान हिरासत में लिए गए रणबीर अपने आप को निर्दोष बता रहा। फिलहाल पुलिस इन तीनों शातिरों से देर रात तक पूछताछ कर इनके गिरोह से जुड़े अन्य सदस्यों की जानकारी जुटाने में लगी हुई है।

खबरें और भी हैं…



Source link