पटना में महिला दिवस की धूम: जगह-जगह कार्यक्रम का हुआ आयोजन, मंत्री जिवेश कुमार 19 महिला पदाधिकारियों को किया सम्मानित

0
26



  • Hindi News
  • Local
  • Bihar
  • Patna
  • Events Organized From Place To Place In Patna On Women’s Day, Minister Jivesh Kumar Honored 19 Women Officials

पटनाएक घंटा पहले

बिहार में महिलाओं की बढ़ी भागीदारी ने एक उम्मीद जगाई है। आज की महिला निर्भर नहीं है वह हर मामले में आत्मनिर्भर और स्वतंत्र है पुरुषों के बराबर सब कुछ करने में सक्षम भी है। आज पटना में जिस प्रकार महिला हर क्षेत्र में आगे बढ़ रही है और जिस तरह आज महिला दिवस पर सम्मान बटोर रही है, यह इस बात को साबित करता है की महिला हर क्षेत्र में आगे बढ़ रही है और महिला किसी भी चीज में पुरुषो से कम नहीं।

आज घर से बाहर निकलने वाली महिला आत्मसम्मान से अपनी जिम्मेदारी पूरी करती है। देश में महिला सशक्तिकरण के रूप में एक साइलेंट क्रांति आई है साथ ही महिलाओं की राजनीति में बढ़ी भागीदारी के कारण सियासत का मिजाज बदला है। ग्राम पंचायत चुनाव में नए लोगों को मौका महिलाओं की वोट के कारण ही हुआ है।

अलग-अलग जगह आयोजित हुआ कार्यक्रम
पटना के आईएमए हॉल में मानव अधिकार रक्षक द्वारा मनाया गया महिला दिवस, हर क्षेत्र की सर्वोच्च महिला को पटना की मेयर सीता साहू द्वारा सम्मानित किया गया। सीता साहू ने कार्यक्रम को संबोधित करते हुए कहा कि यह दिवस प्रतिदिन का है जिसे हमे हर पल, हर क्षण सेवा भाव से मनाना चहिए। इधर, बापू स्मारक महिला उच्च विद्यालय में एसएमई मंत्रालय भारत सरकार द्वारा उद्यमिता जागरुकता कार्यक्रम का आयोजन किया गया।

इस मौके पर संस्थान के निदेशक प्रदीप कुमार ने छात्राओं को संबोधित करते हुए कहा कि अपना उद्यम लगाए और अपने भविष्य को उज्ज्वल बनाकर और लोगों को भी रोजगार दें। कार्यक्रम में पूर्व मिस बिहार रह चुकीं व सफल महिला उद्यमी श्रीमती ऋृचा कुमारी ने अपनी सफलताओं के सफर के बारे में छात्राओं से साझा कर उनका उत्साहवर्धन किया। उन्होंने समाज के सभी रुढ़िवादियों से ऊपर उठ कर अपने, अपने परिवार भविष्य के साथ-साथ समाज को भी बेहतर दिशा देने की बात कही।

ज्ञान भवन में उड़ान कार्यक्रम का आयोजन
पटना के ज्ञान भवन में महिला दिवस के अवसर पर उड़ान नामक कार्यक्रम आयोजन किया गया जिसमें राज्य भर से किशोरी किशोर का सम्मेलन भी हुआ। इस कार्यक्रम में दहेज, बाल विवाह के खिलाफ आवाज उठाने वाले 11 किशोर को सम्मानित किया गया। पटना में करबिगहिया पावर ग्रिड में 130 पदस्थापित महिलाओं को सम्मानित किया गया। इन महिलाओं को सम्मानित करने का मुख्य उद्देश्य महिला सशक्तिकरण को बढ़ावा देना है।

13 महिलाएं संभाल रही करबिगहिया पावन स्टेशन
आपको बता दे की करबिगहिया पावर ग्रिड एक ऐसा पावर ग्रिड है जहा एक भी पुरुष कर्मचारी नहीं है 13 महिलाएं संभाल रही है पॉवर स्टेशन। सहायक कार्यपालिक मोनिका कुमारी ने बताया कि सरकार द्वारा ये बहुत अच्छा कदम उठाया गया है जिसकी वजह से हमारे अंदर जो पोटेंशियल है वो बाहर आ रहा है। हमे यहाँ काम करके बहुत अच्छा महसूस होता है।

पटना के एसके मेमोरियल हॉल में जिला प्रशासन द्वारा मनाया गया महिला दिवस। इसमें महिलाओं को सम्मानित करने के साथ ही महिलाओं द्वारा सांस्कृतिक कार्यक्रम का भी आयोजन किया गया। इस कार्यक्रम में बिहार के त्योहारों को नृत्य के द्वारा दर्शाया गया साथ ही ‘अइसन आपन बा बिहार’ गाने पे बहुत ही बेहतरीन प्रस्तुति दी गई जिसमे पूरा हॉल झूम उठा।

दशरथ मांझी, श्रम एवं नियोजन अध्ययन संस्थान द्वारा “महिला सम्मान समारोह” का आयोजन किया गया। इस अवसर पर कार्यक्रम के मुख्य अतिथि, श्रम संसाधन विभाग मंत्री जिवेश कुमार ने विभाग में 19 नवनियुक्त महिला श्रम प्रवर्त्तन पदाधिकारियों को सम्मानित किया और विभाग के पहली महिला अपर मुख्य सचिव, श्रीमति वन्दना किनी को भी सम्मानित किया। मंत्री ने महिला दिवस के अवसर पर कहा कि देवी का स्वरूप महिलाओं का ही है| शक्ति, धन या विद्या की बात हो सभी क्षेत्रों में देवियों ने अपना अधिपत्य जमाया है, जिससे पुरुष संचालित होते हैं। भगवान शिव ने भी अर्धनारीश्वर के रूप में यह दिखाया की बिना नारी का सब कुछ अधुरा है। आज देश की वित्त मंत्री महिला हैं, जो इस बात का संकेत है कि महिलाओं की स्थिति कितनी सुदृढ़ है। राज्य की 27 महिला अभी विधान सभा की सदस्य हैं| जो इस बात को बयां करती है कि महिलाओं ने अपने को कितना आगे बढाया है|

खबरें और भी हैं…



Source link