पटना में 45 से 55 KM/H की रफ्तार से हवा: दक्षिण बिहार के 19 जिलों में वज्रपात के साथ भारी बारिश का अलर्ट, उत्तर बिहार के 19 जिलों में हल्की बारिश

0
25


  • Hindi News
  • Local
  • Bihar
  • Patna
  • Bihar News; Heavy Rain Alert With Thunderstorm In 19 Districts Of South Bihar, Light Rain In 19 Districts Of North 19 Bihar

पटना32 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक

मौसम विभाग ने लोगों से खराब मौसम में सावधानी बरतने की अपील की है।

मानसून की ट्रफ रेखा गया से होकर बंगाल की खाड़ी तक जा रही है। इसके प्रभाव से पटना में 45 से 55 KM/H की रफ्तार से तेज हवा चल रही है। मौसमी सिस्टम को लेकर मौसम विभाग ने दक्षिण बिहार के 19 जिलों में तेज हवा के साथ वज्रपात के बीच भारी बारिश का अलर्ट जारी किया है वहीं उत्तर बिहार के 19 जिलों में हल्की मध्यम बारिश का पूर्वानुमान है। मौसम विभाग ने लोगों से खराब मौसम में सावधानी बरतने की अपील की है।

दक्षिण बिहार में तेज बारिश को लेकर रहें सावधान

मौसम विभाग के मुताबिक दक्षिण बिहार के बक्सर, भागलपुर, बांका, जमुई, मंगुेर, खगड़िया, गया, पटना, बेगूसराय, नालंदा, बांका, नवादा, शेखपुरा, लखीसराय, जहानाबाद, भोजपुर, रोहतास, भभुआ, औरंगाबाद और अरवल में भारी बारिश होगी। इस दौरान तेज हवा के साथ वज्रपात और आकाशीस बिजली को लेकर भी अलर्ट किया गया है।

उत्तर बिहार में हल्की से मध्यम बारिश

मौसम विभाग के मुताबिक उत्तर बिहार के पूर्वी और पश्चिमी चंपारण, सारण, सिवान, छपरा, गोपालगंज, मधुबनी, पूर्णिया, सीतामढ़ी, मुजफफरपुर, दरभंगा, वैशाली, शिवहर, समस्तीपुर, किशनगंज, सुपौल, मधेपुरा, सहरसा, अररिया और कटिहार में हल्की से मध्यम बारिश होगी। मौसम विभाग का कहना है कि एक दो स्थानों पर भारी बारिश होगी।

ऐसे बदल रहा है मौसम का सिस्टम

मौसम विभाग के मुताबिक बंगाल की खाड़ी से निम्न हवा का दबाव पश्चिम की तरफ सिफ्ट हो रहा है जिससे तेज हवा वज्रपात के साथ बिहार के सभी हिससों में बारिश का अनुमान है। एक ट्रफ रेखा गंगानगर नरनौल गया बांका होते हुए बंगाल की खाड़ी तक जा रही है। इस कारण से नमी का क्षेत्र बन रहा है। मौसम विभाग का कहना है कि इस सिस्टम से कारण बारिश का अनुमान है। मौसम विभाग के मुताबिक 24 जुलाई तक ट्रफ रेखा चंडीगढ़ अमृतसर दिल्ली कानपुर अलीगढ़ होते हुए झारखंड से पश्चिम बंगाल से मध्य प्रदेश शिफ्ट हो रही थी जिससे बिहार के तटवर्ती क्षेत्रों को छोड़कर मानसून निष्क्रिय हो गया था। इस दौरान 12 से 18 जिले में सामान्य से कम बारिश हुई। जून में जहां बारिश का सामान्य से 300 एमएम अधिक हुई वहीं जुलाई में निस्क्रिय होने की वजह से बिहार में जुलाई में बारिश कम हुई।

30 सितंबर तक मानूसन

मौसम विभाग के मुताबिक यदि 60 एमएम से अधिक बारिश होती है तो बिहार के बिहार के 38 जिलों में सामान्य से अधिक बारिश रिकार्ड किया जा सकता है। हालांकि जुलाई के 30 दिनों में उत्तर बिहार में 17 बार और दक्षिण बिहार में केवल 5 बार ट्रफ रेखा गुजरी है जिसका प्रभाव बारिश पर दिखा है। मानसून सत्र अभी एक जून से 30 सितंबर तक है। ऐसे में मौसम विभाग के मुताबिक 20 दिन से भी अधिक बारिश होती है तो जल का स्तर सभी जगहों पर सामान्य से अधिक दिखाई देगा। अधिक बारिश होने से खेती पर बड़ा प्रभाव होगा।

खबरें और भी हैं…



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here