पूर्णिया में बिहार के शिक्षा मंत्री पर परिवाद दायर: रामचरित मानस के पर विवादित बयान को लेकर CJM कोर्ट में परिवाद दायर

0
25
पूर्णिया में बिहार के शिक्षा मंत्री पर परिवाद दायर: रामचरित मानस के पर विवादित बयान को लेकर CJM कोर्ट में परिवाद दायर



  • Hindi News
  • Local
  • Bihar
  • Purnia
  • Complaint Filed Against Bihar’s Education Minister In Purnia, Complaint Filed In CJM Court Regarding Controversial Statement On Ramcharit Manas

पूर्णिया5 घंटे पहले

बिहार के शिक्षा मंत्री प्रोफेसर चंद्रशेखर के नालंदा विश्वविद्यालय में रामचरित मानस के उपर टिप्पणी करना और विवादित बयान देना भारी पड़ गया है। अब अखिल भारत हिंदू महासभा खुलकर सामने आया और विवादित बयान को लेकर शिक्षा मंत्री प्रोफेसर चंद्रशेखर के उपर शुक्रवार को अखिल भारत हिंदू महासभा के प्रदेश उपाध्यक्ष देवेन्द्र कुमार सिंह ने पूर्णिया के CJM कोर्ट में शुक्रवार को कांड संख्या 157/023 दायर किया है। शिक्षा मंत्री के उपर कोर्ट में परिवाद दायर होने के बाद पूर्णिया के राजनीति में हलचल मच गई है।

वहीं शिक्षा मंत्री की मुश्किलें और भी बढ गई है। वहीं संगठन ने शिक्षा मंत्री के खिलाफ शुक्रवार को स्थानीय आरएसाह चौक पर विरोध प्रदर्शन भी किया। संगठन के प्रदेश उपाध्यक्ष देवेंद्र कुमार सिंह ने कहा कि शिक्षा मंत्री को धर्मग्रंथ के उपर इस तरह से आलोचना करना या विवादित बयान देना कदापि भी शोभा नहीं देता है। राम चरित मानस हिंदुओं का आस्था और विश्वास का ग्रंथ है। विवादित बयान ने हिंदुओं के आस्था और विश्वास पर आघात पहुंचा है। शिक्षा मंत्री देश और समाज में धार्मिक उन्माद फैलाना चाहते है। ऐसे लोगो के उपर सख्त कार्रवाई करने की जरूरत है।

वहीं अखिल भारत हिंदू महासभा के प्रदेश कोषाध्यक्ष नित्यानंद चौधरी ने बताया कि हिंदू धर्म सनातन धर्म है। रामायण और राम चरित मानस सैकड़ों वर्ष पुरानी है। शिक्षा मंत्री चंद्रशेखर एक प्रोफेसर है और डॉक्टर की उपाधि भी प्राप्त किए है। ऐसे व्यक्ति को इस तरह का बयान देना शोभा नहीं देता है। उन्होंने डीग्री तो ले लिया लेकिन ज्ञान हासिल नहीं हासिल कर सके। ऐसे लोगो को शिक्षा मंत्री के पद पर रहने की हैसियत नहीं है। मंत्री का काम होता है समाज में शांति फैलाना यह नहीं कि अशांति फैलाना। यदि सरकार चंद्रशेखर को पद से नही हटाने है तो संगठन आगे की सोचने पर बाध्य होगें।

खबरें और भी हैं…



Source link