पूर्णिया में युवक की संदिग्ध स्थिति में मौत: निजी क्लीनिक में अवैध रूप से चल रहे लॉज से मिला शव, परिजन जता रहे हत्या की आशंका

0
36



पूर्णिया2 घंटे पहले

पूर्णिया में अवैध रूप से संचालित लॉज के बाहर शव रखकर प्रदर्शन करते ग्रामीण।

पूर्णिया में एक निजी क्लीनिक का बोर्ड लगाकर अवैध रूप से संचालित लॉज में युवक की संदिग्ध स्थिति में मौत हो गई। युवक की पहचान कसबा निवासी रवि राज के रूप में हुई। शुक्रवार की रात उसने लॉज में रूम लिया था। हालांकि उसकी मौत को परिजन हत्या बता रहे हैं। उन्होंने शनिवार को युवक का शव क्लीनिक के बाहर रखकर प्रदर्शन किया। स्थानीय लोगों का आक्रोश देखकर बिल्डिंग में अन्य लोग भी फरार हो गए। सूचना मिलने पर केहाट थाना व खजांची सहायक थाना की पुलिस पहुंची। उन्होंने परिजनों को समझा-बुझाकर शांत करा दिया। हालांकि जब दैनिक भास्कर की टीम ने जब पूरी घटना की पड़ताल की, तो कई चौंकाने वाली बातें पता चलीं, जो ये हैं…

तीसरी मंजिल पर चल रहा था लॉज

शहर के लाइन बाजार कुंडी पुल स्थित यह तीन मंजिला बिल्डिंग शहर के नामचीन डॉक्टर की है। इस बिल्डिंग में करीब आधा दर्जन डॉक्टरों के क्लीनिक भी चल रहे हैं। साथ ही मरीजों के ठहरने के लिए अलग से रूम की व्यवस्था की गई है। इसका उपयोग अकसर लॉज की तरह ही होता है। यहां तक कि लॉज में मिलने वाली सभी सुविधाएं भी दी जाती हैं। इसे चोरी छिपे चलाया जा रहा था। स्थानीय लोगों ने भी नाम प्रकाश नहीं करने के शर्त पर इसकी पुष्टि की है। उन्होंने बताया कि यहां नशेड़ियों का महफिल जमता है। रात में लड़कियों को भी बुलाया जाता है। लोग डर से कुछ बोल नहीं पाते हैं। पुलिस भी झांकने तक नहीं आती है।

2018 में छापेमारी भी हुई थी

स्थानीय लोगों से मिली जानकारी के अनुसार इस बिल्डिंग में पहले सवेरा नाम का लॉज चलता था। लॉज सिर्फ नाम के लिए था। दरअसल लॉज के नाम पर देह व्यापार का धंधा चलता था। 2018 में तत्कालीन SP विशाल शर्मा के नेतृत्व में लॉज में छापेमारी की गई थी। इसमें लड़की, ग्राहक सहित दलाल को पुलिस ने रंगे हाथ गिरफ्तार कर जेल भेज दिया था। उसके बाद से लॉज का बोर्ड हटा दिया गया, लेकिन अंदर ही अंदर वही पुरानी धंधा चालू था।

रवि राज की मौत कैसे हुई, यह है बड़ा सवाल

कसबा निवासी रवि राज शुक्रवार रात लॉज में कमरा लेकर ठहरा था, लेकिन सुबह में उसे मृत पाया गया। रवि राज वहां कैसे पहुंचा यह किसी को भी पता नहीं है। उसका घर कसबा, जिला मुख्यालय से महज 8 किलोमीटर की दूरी पर है। वह अपने घर नहीं जाकर लॉज क्यों गया, उसकी मौत कैसे हुई यह बड़ा सवाल है। यहां तक कि लॉज के रजिस्टर में उसके नाम की इंट्री तक नहीं की गई है।

पुलिस CCTV फुटेज खंगाल रही है

सहायक खजांची थानाध्यक्ष रंजीत कुमार ने बताया कि क्लीनिक में लगे CCTV कैमरे की फुटेज खंगाली जा रही है। रवि राज के परिजनों ने हत्या की आशंका जताई है। सभी बिंदुओं पर जांच की जा रही है। उन्होंने बताया कि क्लीनिक में लॉज भी चल रहा है, पुलिस को इसकी सूचना नहीं थी। इस संबंध में भी जांच हो रही है। वहीं डीएसपी सुरेन्द्र कुमार सरोज ने बताया कि मृतक के हाथ में अधजला सिगरेट था। इससे पता चलता है कि वह नशा का भी सेवन करता था। अब पोस्टमार्टम रिपोर्ट का ही इंतजार है।

खबरें और भी हैं…



Source link