प्रशासन की नींद खुली भी तो आधी: पटना में शव के अंतिम संस्कार में तो समय नहीं लगेगा, लेकिन शवदाह गृह के ‘सौदागरों’ को झेलना पड़ेगा

0
52


Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

पटनाएक घंटा पहले

  • कॉपी लिंक

पटना के बांस घाट पर लगाया गया बैनर।

  • पटना के विद्युत शवदाह गृह को जल्द किया जाएगा दुरुस्त
  • अभी प्रशासन ने ‘सौदागरों’ से मुक्ति का एक्शन नहीं लिया

पटना के विद्युत शवदाह गृह में दलालों के कब्जे और वहां लगातार अंतिम संस्कार के लिए वेंटिग की खबर को भास्कर ने प्रमुखता से उठाया है। शवदाह गृह के सौदागरों की मनमानी के सामने पटना जिला प्रशासन भी नतमस्तक है। इसके बावजूद जिला प्रशासन ने सिर्फ एक समस्या को लेकर श्मशान घाटों का निरीक्षण किया। शवों का अंतिम संस्कार जल्द कराने के लिए 3 अतिरिक्त शवदाह गृह शुरू करने का आदेश दिया है। लेकिन, लोगों को दाह संस्कार से पहले दलालों के शिकंजे से निकालने के लिए कोई पहल नहीं की गई है।

खाजेकलां घाट स्थित शवदाह गृह में खराब पड़ी मशीन।

खाजेकलां घाट स्थित शवदाह गृह में खराब पड़ी मशीन।

श्मशान घाटों को दुरुस्त करने का निर्देश

पटना के घाटों पर अंतिम संस्कार के रेट फिक्स किए गए हैं और उसका रेट लिस्ट भी लगाया गया है। कोरोना संक्रमण की वजह से लगातार लोगों की मौत हो रही है। ऐसे में श्मशान घाट में जगह कम पड़ती जा रही है। अब तक पटना में जो विद्युत शवदाह गृह हैं, वह सुचारू रूप से नहीं चल रहे थे। बांस घाट का एक शवदाह गृह सिर्फ काम कर रहा था, बाकी श्मशान घाट पर विद्युत शवदाह गृह काम नहीं कर रहे थे। दैनिक भास्कर ने इस मसले के साथ घाटों के दलालों के मामले को भी गंभीरता से उठाया। पटना जिला प्रशासन की आधी नींद खुली है। पटना के जिलाधिकारी डॉ चंद्रशेखर सिंह ने पटना के सभी विद्युत शवदाह गृह का निरीक्षण किया और जरूरी आदेश दिए हैं। DM ने पटना नगर निगम को चिट्ठी लिखकर सभी श्मशान घाटों को दुरुस्त करने और उनकी मशीन ठीक करने की का आदेश दिया है।

नगर निगम आयुक्त को लिखा पत्र

DM डॉ. चंद्रशेखर ने कहा कि अब लोगों को शव दाहगृह में इंतजार नहीं करना पड़ेगा। तीन अतिरिक्त शवदाह गृह को चालू करने का आदेश दिया है। वहीं जिस शवदाहगृह की मशीन खराब है, उसका निरीक्षण कर जल्द चालू करने का आदेश दिया गया है। दरअसल, राजधानी पटना में लगातार बढ़ रहे कोरोना संक्रमण के मामले और उससे मृत्युदर में बढ़ोतरी को देखते हुए जिलाधिकारी ने इसका निरीक्षण किया। DM ने बताया कि नगर निगम आयुक्त को पत्र लिख उसे जल्द ठीक करने की बात कही गई है। गुल्बी घाट और खाजेकलां घाट के शवदाह गृह में कुछ खराबी है, जिसको जल्द ठीक करा पूर्ण रूप से स्वचालित करने को कहा है। हालांकि प्रशासन ने अभी तक गरीब मृतक के परिजनों के लिए ऐसी कोई व्यवस्था नहीं की है, जिससे उन्हें राहत मिले।

खबरें और भी हैं…



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here