बड़ी खुशखबरी, सरकार ने बढ़ा दी ब्याज की दरें, अब PPF-SSY पर मिलेगा इतना फायदा

0
51
बड़ी खुशखबरी, सरकार ने बढ़ा दी ब्याज की दरें, अब PPF-SSY पर मिलेगा इतना फायदा


Small Savings Interest Rates Increased: केंद्र सरकार (Central Government) ने बचत योजनाओं में पैसा लगाने वालों को बड़ा तोहफा दे दिया है. अगर आपने भी बचत योजनओं (savings schemes) में पैसा लगा रखा है तो अब से आपको ज्यादा ब्याज का फायदा मिलेगा. वित्त मंत्रालय (Finance Ministry) की तरफ से नोटिफिकेशन जारी कर इस बारे में बताया गया है. सरकार ने इस बार आरडी की ब्याज दरों में 0.3 फीसदी का इजाफा कर दिया है. बैंक में जमाओं पर बढ़ती ब्याज दरों के बीच में सरकार ने यह कदम उठाया है.  

PPF को लेकर लिया ये फैसला

आपको बता दें निवेशकों के बीच लोकप्रिय सार्वजनिक भविष्य निधि (PPF) पर मिलने वाले ब्याज में कोई बदलाव नहीं किया गया है और यह 7.1 प्रतिशत पर बरकरार रखी गई है.

वित्त मंत्रालय ने दी जानकारी
वित्त मंत्रालय की तरफ से मिली जानकारी के मुताबिक, सबसे ज्यादा ब्याज की राशि 0.3 प्रतिशत आरडी पर बढ़ाई गई है. इससे चालू वित्त वर्ष की दूसरी तिमाही में आवृत्ति जमा धारकों को 6.5 प्रतिशत ब्याज मिलेगा जो अब तक 6.2 प्रतिशत था.

पोस्ट ऑफिस एफडी पर कितना मिलेगा ब्याज?
ब्याज दरों की समीक्षा के बाद डाकघरों में एक साल की एफडी पर ब्याज 0.1 प्रतिशत बढ़कर 6.9 प्रतिशत मिलेगा. वहीं, दो साल की एफडी पर ब्याज अब 7.0 प्रतिशत होगा जो अब तक 6.9 प्रतिशत था. हालांकि, तीन साल और पांच साल की मियादी जमाओं पर ब्याज को क्रमश: 7.0 प्रतिशत और 7.5 प्रतिशत पर बरकरार रखा गया है.

PPF और Savings Account पर नहीं हुआ दरों में बदलाव
इसके साथ पीपीएफ (PPF Account) में जमा राशि पर ब्याज को 7.1 प्रतिशत और बचत खाते (Savings Accounts) में जमा पर ब्याज को 4.0 प्रतिशत पर बनाए रखा गया है. इनमें किसी भी तरह का कोई बदलाव नहीं किया गया है. 

NSC की ब्याज दरों में भी नहीं हुआ बदलाव
राष्ट्रीय बचत प्रमाणपत्र (national savings certificate) पर भी एक जुलाई से 30 सितंबर, 2023 तक के लिये ब्याज को 7.7 प्रतिशत पर बरकरार रखा गया है.

SSY और SCSS पर कितना मिलेगा ब्याज?
बालिकाओं के लिये बचत योजना सुकन्या समृद्धि योजना पर भी ब्याज दर 8.0 प्रतिशत पर अपरिवर्तित है. वरिष्ठ नागरिक बचत योजना और किसान विकास पत्र पर ब्याज क्रमश: 8.2 प्रतिशत और 7.5 प्रतिशत रहेगा.

मंथली इनकम प्लान में 
इसके पहले, जनवरी-मार्च तिमाही के साथ-साथ अप्रैल-जून तिमाही में भी लघु बचत योजनाओं पर ब्याज बढ़ाये गये थे. लघु बचत योजना (small savings scheme) पर ब्याज दरें तिमाही आधार पर अधिसूचित की जाती हैं. मासिक आय योजना (monthly income plan) पर ब्याज में कोई बदलाव नहीं किया गया है और इस पर पहले की तरह 7.4 प्रतिशत ब्याज मिलता रहेगा.

आरबीआई ने ब्याज दरों में नहीं किया बदलाव
उल्लेखनीय है कि भारतीय रिजर्व बैंक ने महंगाई को काबू में लाने के लिये पिछले साल मई से नीतिगत रेपो दर को 2.5 प्रतिशत बढ़ाकर 6.5 प्रतिशत कर दिया है. इससे जमाओं पर भी ब्याज दरें बढ़ी हैं. हालांकि केंद्रीय बैंक ने पिछली दो मौद्रिक नीति समीक्षा में नीतिगत दर में कोई इजाफा नहीं किया है.





Source link