बिहार में आज यास तूफान की एंट्री: बांका और जमुई जिलों से होगी एंट्री, 2 दिनों तक प्रदेश के सभी हिस्सों में तूफान के साथ होगी तेज बारिश

0
17


  • Hindi News
  • Local
  • Bihar
  • Yeah Cyclone Enter In Bihar From Banka And Jamui; Heavy Rains With Thunderstorms

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

पटना27 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक

सांकेतिक तस्वीर।

बंगाल की खाड़ी में सक्रिय यास तूफान बुधावार की सुबह ओडीशा के बालसोल तटीय क्षेत्र में टकराने के बाद पश्चिम बंगाल ओडीशा के विभिन्न क्षेत्रों में 144 किमी प्रति घंटा की रफ्तार से चलने वाली हवाओं के साथ भारी बारिश हुई। इस दौरान ओडिशा के कुछ क्षेत्रों में 220 एमएम बारिश रिकॉर्ड किया गया। गुरुवार की सुबह दो बजे सुबह में तूफान झारखंड में प्रवेश किया और दोपहर में बांका जमुई होते हुए बिहार के विभिन्न क्षेत्र में प्रवेश कर जाएगा। उसके बाद पटना पश्चिमी पूर्वी चंपारण गोपालगंज होते हुए पूर्वी उत्तर प्रदेश की तरफ रुख करेगा।

तूफान के प्रभाव 160 MM बारिश की संभावना

यास तूफान का असर चार दिनों तक पूरी तरह रहेगा। इस दौरान 160 एमएम बारिश होने की संभावना है। यास के प्रभाव से 27 मई से तापमान में गिरावट होनी शुरू हो जाएगी जो 1 जून तक जारी रहेगी। मौसम विभाग के मुताबिक इस दौरान सक्रिय टर्फ रेखा के चक्रवाती हवाओं का प्रभाव निष्क्रिय हो जाएगा। हालांकि बिहार के विभिन्न क्षेत्रों में बुधवार को यास का प्रभाव देखने को मिला है। अधिकांश हिस्सों में आसमान में बादल छाए रहे। पटना में रुक रुक कर कई बार बारिश हुई जिसे 1.9 एमए रिकॉर्ड किया गया वहीं गया में 30 एमएम बारिश दर्ज की गई। यास के प्रभाव की वजह से पटना का अधिकतम तापमान 30 डिग्री और न्यूनतम तापमान 23 डिग्री सेल्सियस होने की संभावना है।

यास से बिहार में 4 दिनों बड़ा अलर्ट

यास तूफान को लेकर बिहार में 4 दिनों का विशेष अलर्ट जारी किया गया है। इसमें 27 मई को राज्य के 38 जिलों में भारी बारिश के साथ तेज हवाएं चलेंगी। ऐसे में में आपदा को लेकर पूरा बिहार अलर्ट है। बिहार के सभी जिलों के डीएम इसे लेकर पूरी तरह से अलर्ट मोड पर हैं जिससे किसी भी आपदा से निपटा जा सके। तेज रफ्तार में चलने वाली हवाओं के कारण प्रदेश के सभी जिलों में सुरक्षा का दस्ता लगाया गया है। जमुई और बांका में 70 एमएम से अधिक बारिश होने का अनुमान है।

आपातकालीन सेवा पर असर

तूफान के कारण आवश्यक सेवाओं के बाधित होने का अनुमान है। इस कारण से ऐसी व्यवस्था बनाई जा रही है जिससे आपात सेवा को तत्काल बहाल किया जा सके। आवश्यक सेवाओं के साथ स्वास्थ्य सेवाओं को लेकर विशेष तैयारी की जा रही है। टेलीफोन, यातायात, स्वास्थ्य सेवा, मोबाइल, इंटरनेट के साथ अहम सर्वर को लेकर विशेष अलर्ट है। बिजली की व्यवस्था को लेकर भी राज्य के सभी जिलों में विशेष वैकल्पिक तैयारी की जा रही है। इसमें हॉस्पिटल को प्रहली प्राथमिकता में रखा गया है।

खबरें और भी हैं…



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here