बिहार में कोरोना LIVE: पटना में 8 कोरोना संक्रमितों की मौत, डॉक्टरों ने कहा- बीमारी पर भारी पड़ रहा कोरोना

0
7


पटना44 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक

कोरोना का संक्रमण कम हो रहा है, लेकिन मौत का खतरा हर दिन बढ़ रहा है। पटना AIIMS और PMCH (Patna Medical College and Hospital) के कोरोना वार्ड में 24 घंटे में 8 संक्रमित की मौत हुई है। हर दिन कोरोना वार्ड से किसी न किसी संक्रमित का शव बाहर आ रहा है। संक्रमण के कम होते मामलों के बाद भी बढ़ रहा मौत का आंकड़ा अब डरा रहा है। डॉक्टरों का कहना है कि शुगर ब्लड प्रेशर के साथ अन्य गंभीर बीमारी वाले मरीजों की सेहत पर कोरोना भारी पड़ रहा है। ऐसे संक्रमित हमेशा खतरे में रहते हैं।

1.51 लाख जांच में 3475 नाए मामले
बिहार में 24 घंटे में 151253 लोगों की कोरोना जांच कराई गई है। जांच में 3475 लोगों की रिपोर्ट पॉजिटिव आई है। इसमें 1000 ऐसे लोग हैं जिनकी उम्र 40 वर्ष से कम है जबकि लगभग 250 ऐसे हें जो 15 वर्ष से कम उम्र के हैं। अधिक संख्या में 50 वर्ष से अधिक उम्र वाले हैं जिन पर कोरोना का खतरा अधिक है। नए संक्रमण के मामले में देश में बिहार अन्य राज्यों की तुलना में काफी राहत के पायदान पर है। बिहार देश में नए संक्रमण के मामले में 21वें नंबर पर है। टॉप पर महाराष्ट्र है जहां एक दिन में 43697 केस आए हैं जबकि दूसरे नंबर पर कर्नाटक है जहां 40499 मामले आए। बिहार में राहत है लेकिन मौत के आंकड़ों से डर बढ़ा है। बिहार में संक्रमण का दर 2.3 प्रतिशत है जबकि पटना में 24 घंटे में आए 745 नए मामलों से संक्रमण की दर अब घटकर 10.81 प्रतिशत हो गई है।

नए संक्रमितों से ठीक होने वालों की संख्या अधिक
बिहार में 24 घंटे में 3475 नए मामले आए हैं जबकि 7277 ठीक हुए हैं। ठीक होने वालों की संख्या नए संक्रमितों से लगभग डबल है। ऐसे में यह बिहार के लिए बड़े की बात है, लेकिन मौत के आंकड़ों पर काबू पाना होगा। इसके लिए आम लोगों को संक्रमण को लेकर पूरी तरह से अलर्ट रहना होगा। खासकर बीमार लोगों को विशेष सावधानी बरतनी होगी। पटना एम्स के कोरोना नोडल डॉ. संजीव कुमार का कहना है कि 24 घंटे में 4 लोगों की मौत हुई है। इसमें 71 साल की कमला देवी प्रियदर्शनी नगर पटना की रहने वाली थी और 74 साल के दशरथ प्रसाद मोतिहारी के रहने वाले थे। वहीं, 45 साल की लच्छो देवी अलीपुर पटना और 41 साल की प्रीति देवी सैदपुर पटना की रहने वाली थी। डॉ. संजीव का कहना है कि कोरोना से मरने वालों की हिस्ट्री बीमारी की रही है। कोरोना का संक्रमण बीमारी पर भारी पड़ा है।

एक्टिव मामलों की संख्या हुई कम
राज्य में 24 घंटे में 7277 लोगों के स्वस्थ होने से एक्टिव मामलों की संख्या में तेजी से कमी आई है। अब एक्टिव मामलों की संख्या 26673 हो गई है। राज्य में रिकवरी रेट 95.16 प्रतिशत हो गई है। स्वास्थ्य विभाग के अपर मुख्य सचिव प्रत्यय अमृत का कहना है कि संक्रमण का मामला घट रहा है लेकिन इससे आश्वस्त नहीं होना है। कोरोना वायरस का नेचर है कभी भी बढ़ सकता है। इस कारण से हमेशा सावधान रहना है और इसके लिए जारी गाइडलाइन का पूरी तरह से पालन करना है।

खबरें और भी हैं…



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here