बेटी की शादी का सपना रह गया अधूरा: गोपालगंज में पिता की हत्या, रोती बेटियां बोलीं- अब हमारे घर का क्या होगा?

0
11


गोपालगंज36 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक

मृतक की फाइल फोटो।

गोपालगंज के मीरगंज थाना क्षेत्र अंतर्गत खैरटिया बाजार में शुक्रवार सुबह एक पान दुकानदार की हत्या हो गई। चुनावी रंजिश में सुभाष सिंह (60) की अपराधियों ने गोली मार हत्या कर दी। मृतक की पांच बेटियां हैं। इनमें चार की शादी हो चुकी है। वहीं, पांचवीं बेटी की शादी के लिए पान दुकानदार ने सपने संजोए थे, लेकिन बेटी की शादी का सपना अधूरा रह गया। वहीं, पोस्टमॉर्टम के बाद शव घर पहुंचते ही बेटियों की चित्कार से माहौल गमगीन हो गया। बेटियां “हमर पापा कहां गईले….”कह कर रोती रहीं।

छोटी बेटी की शादी का सपना रह गया अधूरा

बता दें, मृतक की पांच बेंटियां हैं। चार बेटियां सुमन देवी, मुन्नी देवी, रूबी देवी, कुंती देवी की शादी हो चुकी है। वहीं, कुंवारी बेटी अंशू की शादी के लिए पान दुकानदार तैयारी कर रहा था और दिन-रात मेहनत करता था। पिता के मौत की सूचना पर चारों बेटियां अंतिम दर्शन को पहुंची। पिता का शव देखते ही सभी दहाड़ मारकर रोने लगी।

बेटी सुनीता देवी ने कहा- “अब हमारे घर का क्या होगा। पापा ही घर चलाते थे। एक छोटी बहन है। जिसकी शादी के लिए पापा ने बड़े सपने संजोए थे। दिन-रात मेहनत करते थे। ताकि बेटी की शादी धूमधाम से कर सके, लेकिन बदमाशों ने उनकी हत्या कर हम सभी को अनाथ कर दिया।”

बेटी का आरोप- पूर्व मुखिया पति ने कराई हत्या

वहीं, दूसरी बेटी मुन्नी देवी ने कहा- ‘चुनावी रंजिश में हारे मुखिया ने पिता की हत्या करवाई है।’ उसका आरोप है- “पिता को लगातार पूर्व मुखिया सैला खातून के पति साहेब हुसैन धमका रहा था।’ मुन्नी देवी ने बताया- ‘वर्तमान मुखिया रामशंकर चौहान के चुनाव प्रचार में मृतक सुभाष गए थे। इसके बाद साहेब हुसैन ने कहा था कि अगर चुनाव हारे तो हत्या कर देंगे और जीत जाएंगे तो छोड़ देंगे। हारने पर पिता की उसने गाेली मारकर हत्या कर दी।”

(इनपुट- अटल बिहारी पांडेय, गोपालगंज)

खबरें और भी हैं…



Source link