भागलपुर के रेशम कारोबार को बढ़ाएंगे उद्योग मंत्री: नाथनगर के रेशम संस्थान में पहुंचे शाहनवाज हुसैन, कहा- यहां डिप्लोमा के साथ साथ अब डिग्री की भी होगी पढ़ाई

0
87


  • Hindi News
  • Local
  • Bihar
  • Industry Minister Shahnawaz Hussain Visit Nathnagar’s Silk Institute; Minister Help Bhagalpur Silk Industry; Bhagalpur Latest News

भागलपुर8 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक

उद्योग मंत्री शाहनवाज हुसैन का भागलपुर दौरा।

भागलपुर में उद्योग मंत्रालय के अधीन रेशम एवम वस्त्र संस्थान में एक बार फिर से जान डालने और उसकी खोई चमक वापस लाने की कवायद शुरू की जा रही है | इसके लिए बिहार सरकार के उद्योग मंत्री सैयद शाहनवाज हुसैन भागलपुर के नाथनगर पहुंचे | नाथनगर पहुंचते ही उन्होंने कहा कि बिहार में कृषि आधारित उद्योग की संभावनाओं के बीच टेक्सटाइल उद्योग की प्रबल संभावना है। भागलपुर के रेशमी मखमल मुलायम कपड़े की पहचान आज भी अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर है। बुनकर के उन हुनर को और निखारने के लिए सिल्क संस्थान को दुरुस्त कर डिग्री स्तर की पढ़ाई की शुरुआत की जाएगी|

नवयुवकों को मिलेगा बढ़ावा

उद्योग मंत्री सह भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय प्रवक्ता सैयद शाहनवाज हुसैन नाथनगर स्थित बिहार रेशम एवं वस्त्र संस्थान पहुंचे। वहां उन्होंने टेस्टिंग लैब एवं कैब भवन सहित छात्रावास का भी निरीक्षण किया। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार बुनकरों के विकास को लेकर हर संभव तत्पर है।उन्होंने कहा कि बिहार में लगातार विकास की गंगा बह रही है और आगे भी बहेगी | | उन्होंने बताया कि यहां पर करीब 15 एकड़ जमीन है | यहां पहले डिप्लोमा की पढ़ाई होती थी लेकिन अब डिग्री की भी पढ़ाई हो, इसको लेकर आई० सी० टी० को पत्राचार कर अवगत कराया है। जल्द ही संस्थान में खाली पदों को भी भरा जाएगा।

नई पॉलिसी देगी नई दिशा

उन्होंने कहा कि पटना के तर्ज पर भागलपुर में एक खादी मॉल बनेगा। इससे बुनकरों की परेशानियों को कम किया जा सकेगा | शाहनवाज हुसैन ने कहा कि इससे बुनकरों को यह फायदा मिलेगा कि उन्हें एक मार्केट मिलेगा ताकि उन्हें अपना माल घूम-घूम कर और कम भाव मे नहीं बेचना पड़े। उन्होंने यह भी कहा कि टेक्सटाइल और लेदर पॉलिसी जो आ रही है। इस पॉलिसी में हैंडलूम और हैंड क्राफ्ट पर भी ध्यान रखा जायेगा। उन्होंने कहा कि भागलपुर की पहचान सिल्क नगरी से है और इसे बढ़ावा देना है।

बुनकर कारखाना का भी किया जायेगा जीर्णोधार

उन्होंने चंपानगर के वार्ड संख्या 03 स्थित अबीर मिश्रा लेन में 40 वर्षों से बंद पड़े रंगाई बुनकर कारखाना व उद्योग केंद्र का भी निरीक्षण किया। निरीक्षण के दौरान वे स्थानीय बुनकरों की समस्याओं से रूबरू हुए और उनके साथ हो रही परेशानियों को अतिशीघ्र ही समाधान करने का आश्वासन दिया था। हुसैन ने कहा कि रेशमी शहर अब नाम का नहीं, बल्कि काम का भी रहेगा। बुनकरों के हित में भागलपुर, गया और दरभंगा में बुनकर केंद्र बनाया जाएगा। उद्योग मंत्री ने कहा कि यहां बुनकर केंद्र भी बनाया जाएगा, ताकि इलाकों के बुनकरों को इससे लाभ मिल सके।

खबरें और भी हैं…



Source link