मधेपुरा में बेटे ने काटा नवनिर्वाचित पंच का गला: अष्टयाम देखने के दौरान ही वहशी बेटे ने किया वार, दिनदहाड़े गर्दन काटकर की हत्या

0
11


मधेपुरा39 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक

नवनिर्वाचित पंच नारायण ठाकुर का शव।

मधेपुरा सदर अनुमंडल के कुमारखंड प्रखंड अंतर्गत श्रीनगर थाना क्षेत्र के मंगरवारा रंगपट्टी वार्ड नंबर-4 में नवनिर्वाचित पंच नारायण ठाकुर (55 साल) की धारदार हथियार से वारकर हत्या कर दी गई। हत्या का आरोप पुत्र पर ही है। घटना उस वक्त की है, जब वो कीर्तन में शामिल थे। ठीक उसी वक्त बेटे ने धारदार हथियार से पीछे गर्दन पर वार कर दिया। जब तक लोग घटना के संबंध में कुछ समझ पाते, तब तक हत्यारा पुत्र वहां से फरार हो गया। धार्मिक अनुष्ठान के बीच हुई इस हत्या से इलाके में सनसनी फैल गयी है।

श्रीनगर थाना क्षेत्र के मंगरवारा पंचायत स्थित रंगपट्टी वार्ड नंबर-4 में अमरेंद्र शर्मा के दरवाजे पर कीर्तन हो रहा था। वहां बरैय टोला वार्ड नंबर-6 में नारायण ठाकुर अष्टयाम देखने आए थे। दोपहर बाद उनका 25 वर्षीय बेटा सुबोध ठाकुर अचानक वहां धारदार हथियार लेकर पहुंच गया और पिता की गर्दन पर पीछे एक के बाद एक दो बार कर दिया। गर्दन कट जाने की वजह से नारायण ठाकुर की घटनास्थल पर ही मौत हो गयी। हमला करते ही पुत्र वहां से फरार हो गया। घटना का कारण पारिवारिक विवाद बताया जा रहा है।

सूचना मिलते ही श्रीनगर थानाध्यक्ष रमेश कुमार ने घटनास्थल पर पहुंचकर शव को अपने कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए सदर अस्पताल मधेपुरा भेज दिया है। ग्रामीणों की मानें तो सुबोध गांजा आदि नशा का सेवन करता रहा है। पिता नारायण ठाकुर और मां शांति देवी से भी हमेशा सम्पत्ति के बंटवारे को लेकर विवाद करता रहता था।

खबरें और भी हैं…



Source link