मुजफ्फरपुर में एक मौत पर उलझे कई सवाल: घर के सामने रोहित को लगी थी गोली, अब हत्या-आत्महत्या का एंगल भी; पिता से झगड़े की बात भी निकली

0
19


मुजफ्फरपुर18 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक

रोहित की फाइल फोटो।

पारु के फतेहाबाद में गुरुवार की शाम गोली लगने से हुई रोहित कुमार की मौत की गुत्थी पुलिस ने काफी हद तक सुलझा ली है। शीघ्र ही घटना का उद्भेदन करने का पुलिस दावा कर रही है। हालांकि घर के बाहर ही राहुल को गोली लगने के मामले में नए-नए मोड़ भी आ रहे हैं। पहले तो घटना मर्डर के तौर पर सामने आई थी, अब इसमें आत्महत्या का एंगल भी मिल रहा है। रोहित की अपने पिता से ही झगड़े की बात सामने आई है।

SDPO राजेश शर्मा ने बताया कि अब तक जो जांच चली है, उसमें यह पता लगा है कि रोहित के पिता की सरसों तेल पीसने वाली मशीन है। रोहित ने दुकान के गल्ला से तीन हज़ार रुपए निकाल लिए थे। इसकी जानकारी उसके पिता को लगी तो दोनों के बीच जमकर विवाद हुआ। गुस्से में आकर पिता ने बहुत भला-बुरा भी बोल दिया था। इस बात को लेकर रोहित काफी गुस्से में था। उसने अपना मोबाइल भी ईंट से कूचकर तोड़ दिया था। इस घटना के बाद पिता-पुत्र के बीच मनमुटाव चल रहा था।

गोली लगने के बाद घटनास्थल पर पड़ा रोहित का शव। गुरुवार शाम की है घटना।

गोली लगने के बाद घटनास्थल पर पड़ा रोहित का शव। गुरुवार शाम की है घटना।

आत्महत्या के बिंदु पर चल रही जांच

घटना को देखकर पुलिस इसे आत्महत्या ही मान रही है। थानेदार ने कहा कि मृतक के पिता ने तो आवेदन देने से भी इंकार कर दिया है। रोहित की मां ने आवेदन देने की बात कही थी। लेकिन, शुक्रवार शाम तक आवेदन नहीं दिया गया है। पुलिस की मानें तो गोली जहां पर लगी थी, उससे प्रथमदृष्टया आत्महत्या प्रतीत होता है। हालांकि, परिजन क्या आवेदन देते हैं। इसपर भी निर्भर करता है।

मोबाइल कॉल डिटेल्स से मिले अहम सुराग

SDPO ने बताया कि रोहित का मोबाइल कॉल डिटेल्स खंगाला गया है। इससे कुछ अहम सुराग मिला है। हालांकि, अभी इसका खुलासा करना उचित नहीं होगा। पुलिस हथियार की तलाश में भी छापेमारी कर रही है, जिससे रोहित के कनपटी में गोली लगी थी। हथियार वह कहां से लाया था। इसका अभी पता नहीं लगा है। पुलिस अनुमान लगा रही है कि उक्त हथियार या तो उसने गल्ला से निकाले रुपए से खरीदे होंगे या फिर उन्हीं दोस्तो ने उसे दिलाया होगा, जिसके साथ वह घटना से पूर्व दरवाजे पर बातचीत कर रहा था।

खबरें और भी हैं…



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here