मोतिहारी की घटना: दिवंगत आरटीआई कार्यकर्ता को न्याय नहीं मिलता देख 14 वर्षीय पुत्र ने अपने घर की तीसरी मंजिल से कूदकर किया आत्महत्या का प्रयास

0
41


मोतिहारी36 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक

इंसाफ के लिए पहले धरने पर बैठा था रोहित

हरसिद्धि के दिवंगत आरटीआई कार्यकर्ता विपिन अग्रवाल को न्याय नहीं मिलता देख उसके 14 वर्षीय पुत्र रोहित अग्रवाल ने अपने घर के तीसरे मंजिल से कूदकर आत्महत्या का प्रयास किया। इस दौरान वह बिजली के हाइटेंशन वायर की चपेट में आने से बुरी तरह झुलस गया। आनन-फानन में इलाज के लिए उसे शहर के निजी नर्सिंग होम में भर्ती कराया गया।

जहां गुरुवार की देर रात उसने दम तोड़ दिया। वहीं मौत की सूचना मिलते ही परिजनों में चीख पुकार मच गई। आरटीआई कार्यकर्ता विपिन अग्रवाल के पिता ने बताया कि उनके पुत्र की गोली मारकर हत्या हुई। इस मामले में पुलिस की कार्रवाई सही नहीं चल रही थी।

विपिन जिस सरकारी जमीन को अतिक्रमण मुक्त करने के लिए प्रयासरत था, उस पर अभी भी अतिक्रमण है। इसको लेकर पोता रोहित गुरुवार को एसपी से मिलने पहुंचा था। लेकिन उसकी मुलाकात नहीं हो सकी। इससे न्याय की उम्मीद टूटती देख उसने छत से छलांग लगा दी।

मां ने प्राथमिकी के लिए दिया आवेदन

एक वीडियो भी वायरल हुआ है। इसमें आरटीआई कार्यकर्ता विपिन के पिता विजय अग्रवाल ने वीडियो जारी करते हुए कहा है कि एसपी से मुलाकात नहीं होने पर हताश विपिन के पुत्र रोहित ने निजी क्लीनिक की छत से कूदकर आत्महत्या का प्रयास किया। इलाज के दौरान उसकी मौत हो गई। इसके बाद पुलिस उसपर तथा अन्य परिजनों पर दबाव बनाने लगी।

इसमें एसपी से नहीं मिलने की वजह से आत्महत्या को हटाकर अन्य बातों के लिए कहा जाने लगा। इधर एसपी ने बताया कि मामले में रोहित की मां ने प्राथमिकी के लिए आवेदन दिया है। मामले की जांच को लेकर सीआईडी को अनुशंसा भेजी जा रही है।

एसपी से मुलाकात नहीं होने पर दी थी धमकी
एसपी डाॅ. कुमार आशीष ने कहा कि वह विक्टिम कंपेंशेसन स्कीम की मीटिंग में चले गए। विपिन के पुत्र रोहित को जब मालूम हुआ कि एसपी के बजाए डीएसपी फरियाद सुन रही हैं। तो वह एसपी से ही मुलाकात करने पर अड़ गया। इसके बाद मुलाकात नहीं होने पर धमकी देकर चला गया।

24 सितंबर 2021 को हुई थी पिता की हत्या
24 सितंबर 2021 को विपिन अग्रवाल को बाइक सवार चार बदमाशों ने हरसिद्धि प्रखंड कार्यालय के गेट पर गोली मार हत्या कर दी थी। हत्या के बाद कई लोगों की भूमिका सामने आई थी। पुलिस ने एक रसूखदार को भी पूछताछ के लिए उठाया था। लेकिन बाद में उसे छोड़ दिया था।

खबरें और भी हैं…



Source link