मोतिहारी में एनयूजे का कार्यक्रम: पत्रकारिता की दशा व दिशा पर आयोजित हुई परिचर्चा, वक्ताओं ने कहा- गुलाम भारत में पत्रकारिता ने ही स्वतंत्रता की नींव रखी

0
7


  • Hindi News
  • Local
  • Bihar
  • Motihari News; Discussion On Condition And Direction Of Journalism Speakers Said It Laid Foundation Of Freedom

मोतिहारी43 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक

परिचर्चा में शामिल पत्रकार।

पूर्वी चंपारण के मोतिहारी में रविवार को एनयूजे बिहार की पूर्वी चंपारण इकाई के तत्वावधान में 75 साल आजादी के अमृत महोत्सव को लेकर एक परिचर्चा आयोजित की गई। जिसमें 75 साल की आजादी में पत्रकारिता की दशा व दिशा पर वक्तव्य दिया गया। कार्यक्रम की अध्यक्षता एनयूजे पूर्वी चंपारण के जिला संयोजक राजन दत्त द्विवेदी ने किया। कहा कि गुलाम भारत में पत्रकारिता ने ही स्वतंत्रता की नींव रखी व आज हम आजाद हैं।

इस मौके पर पत्रकार अशोक वर्मा ने कहा कि आज के दौर में पत्रकारिता पर कारपोरेट घरानों का वर्चस्व है। वर्चस्व से हटकर गुलाम हो रही पत्रकारिता को आजादी दिलाने की कोशिश करनी चाहिए। एक दौर था जब चंपारण में पंडित राजकुमार शुक्ल, पीर मोहम्मद मुनीश सहित तीन पत्रकारों ने अपनी पत्रकारिता से निलहो के अत्याचार की खबर महात्मा गांधी तक पहुंचाई। अंततः उनकी पत्रकारिता से चंपारण में सत्याग्रह आंदोलन का स्वरूप दिया व हम आजाद हुए। यानि हर समय पत्रकारों को अपने स्थान, समाज, राज्य व देश के हित में आवाज उठाने की जरूरत है।

एनयूजे पूर्वी चंपारण के जिला सह संयोजक विनोद कुमार सिंह ने कहा कि आज के दौर में डिजिटल मीडिया ने पत्रकारिता को नया आयाम दिया है। लेकिन, बगैर साक्ष्य और पक्ष की पत्रकारिता करना कहीं से ठीक नहीं। हम पत्रकारों को चाहिए कि पत्रकारिता को संस्कार और संस्कृति को सुदृढ़ बनाने का मजबती से यत्न करें।

मौके पर पत्रकारों में नरेंद्र झा, आनंद प्रकाश, विजय पांडेय, संजय सिंह, दिनेश्वर प्रसाद, ओमप्रकाश मिश्र, विजय मिश्रा, रूपेश तिवारी, प्रभात रंजन, मनोज कुमार आदि मौजूद थे। धन्यवाद ज्ञापन वरीय पत्रकार विनोद कुमार सिंह ने किया।

खबरें और भी हैं…



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here