Home Bihar यातायात नियमों की अनदेखी: ट्रैफिक नियमों की अनदेखी हादसों की बड़ी वजह

यातायात नियमों की अनदेखी: ट्रैफिक नियमों की अनदेखी हादसों की बड़ी वजह

0
यातायात नियमों की अनदेखी: ट्रैफिक नियमों की अनदेखी हादसों की बड़ी वजह

[ad_1]

जहानाबाद27 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक

सड़क पर धड़ल्ले से संचालित वाहन चालकों का यातायात नियमों का अनदेखी करना आए दिन हो रहे सड़क हादसों का एक मुख्य कारण है। परिवहन विभाग की मानें तो सड़क हादसों के कई कारण हैं। जांच के दौरान वाहनों पर रिफ्लेक्शन का न लगा होना, ब्लैक स्पॉट का सांकेतिक चिन्ह देखने के बाद भी चालक द्वारा वाहन को सावधानी से न चलाना व बिना अनुभव के ड्राईवरों का वाहनों को चलाने का मामला भी सामने आया है। साथ ही जांच के दौरान कई घटनाओं में वाहन का ब्रेक फेल व एक्सल का टूट जाने का मामला भी सामने आता है। बावजूद इसके यातायात नियमों का पालन कर सड़क दुर्घटनाएं कम की जा सकती हैं। जानकारों की मानें तो सड़क पर धड़ल्ले से दौड़ रहे अधिकतर कामर्शियल वाहनों में लगे स्पीड गवर्नर दुरुस्त नहीं होते हैं। नियम के तहत ऐसे वाहन में स्पीड गवर्नर लगा तो लिए जाते हैं लेकिन समय-समय पर उन्हें रिन्युअल नहीं कराया जाता है। वहीं वाहनों की गति पर नियंत्रण करने में स्पीड गवर्नर का काफी अहम रोल है।

जांच के दौरान इसके जरिए तेज रफ्तार वाले वाहनों पर विभागीय कार्रवाई संभव है। बीते दिनों परिवहन विभाग की जांच में भी कई वाहनों में स्पीड गर्वनर डैमेज मिले थे, जिनके खिलाफ कार्रवाई की गयी थी। बताया जाता है कि सड़क हादसों के एक मुख्य कारणों में बिना अनुभव वाले चालकों द्वारा वाहनों का संचालन भी है। सड़क हादसा रोकने को लेकर चालकों का समय-समय पर ड्राइविंग लाइसेंस की जांच होनी चाहिए। दरअसल चालक को वाहन संचालन की अनुमति देने से पूर्व उनके अनुभव को लेकर परिवहन विभाग की ओर से ड्राइविंग लाईसेंस दिया जाता है।

लेकिन कई बार ऐसा भी देखा जाता है कि बिना लाइसेंस लिए अयोग्य चालक भी वाहन को हांकते नजर आते हैं। पतली लेकिन चिकनी सड़कें भी दुर्घटना का कारण वहीं बताया जाता है कि इन दिनों जिले की अधिकतर सड़कें चिकनी बन गयी हैं जबकि उनकी चौड़ाई पहले ही जैसा है। लिहाजा साफ-सुथरी सड़क पर चालक अपने वाहनों को तेज चलाते हैं जबकि दूसरे वाहनों के आने के बाद अनियंत्रित होकर आपस में टकरा जाते हैं।

वाहनों के लिहाज से सड़क की चौड़ाई भी बढ़ायी जानी चाहिए। हालांकि परिवहन विभाग की ओर से सड़क हादसों पर अंकुश लगाने को लेकर समय-समय पर जांच अभियान चलाया जाता है। विभागीय अधिकारी ने बताया कि जांच के दौरान वाहनों पर रिफ्लेक्शन लगाने, चालकों के पास ड्राइविंग लाईसेंस, वाहनों का फिटनेश के साथ ही यातायात नियमों का पालन करने की बात बतायी जाती है।

खबरें और भी हैं…

[ad_2]

Source link