‘रक्तदान महादान’: वैक्सीन लेने के 14 दिन बाद करेंगे ब्लड डोनेट तो नहीं प्रभावित होगी कोरोना की एंटीबॅाडी

0
35


पटना24 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक

प्रतीकात्मक फोटो।

  • कोरोना काल में ब्लड डोनेशन से कम होगा हार्ट अटैक का खतरा

रक्तदान कोरोना काल में सेहत के लिए काफी अच्छा है। इससे हार्ट अटैक के साथ अन्य बीमारियों का खतरा तो कम होता ही है साथ ही खून की कमी पूरी कर किसी की जान भी बचाई जा सकती है। कोरोना काल में ब्लड डोनेशन करने से पहले एक बात का ख्याल ज़रुर रखना होगा कि टीका लेने के 14 दिन बाद ही रक्तदान करना है। इससे एंटीबॉडी प्रभावित नहीं होगी। सोमवार को विश्व रक्तदाता दिवस पर ब्लड डोनेशन के लिए जा रहे हैं तो आपके लिए यह खबर काफी महत्वपूर्ण है।

इसलिए 14 दिन की वेटिंग है ज़रुरी

वैक्सीन लेने के बाद 14 दिनों तक एंटीबॉडी बनती है। कोरोना के खिलाफ शरीर में बनी एंटीबॉडी प्रभावित नहीं हो इस कारण से ब्लड डोनेशन के लिए टीका लगावाने के 14 दिन बाद ब्ल्ड डोनेशन करने का नियम बनाया गया है। नेशनल ब्लड ट्रांसफ्यूजन काउंसिल की गाइडलाइन के मुताबिक वैक्सीन की हर डोज के 14 दिन बाद ही रक्तदान किया जा सकता है।

कोरोना हुआ है तो भी रक्तदान में बरतें सावधानी

अगर आपको कोविड हुआ है तो रक्तदान नहीं कर सकते हैं। कोरोना की पुष्टि हुई है तो निगेटिव होने पर ही वैक्सीनेशन कर सकते हैं। कोरोना के लक्षण है तो भी इंतजार करना होगा। जांच में पुष्टि हुई तो भी रक्त्दान नहीं करना है। एक्सपर्ट बताते हैं कि ऐसी स्थिति में कम से कम 14 दिनों का इंतजार करना होगा। संक्रमण के कारण अगर अस्पताल में भर्ती हुए हैं तो 3 माह तक रक्तदान नहीं कर सकते हैं।

35 से 42 दिन में टूट जाता है RBC

35 से 42 दिन में अपने आप शरीर में एक यूनिट RBC टूट जाता है। ऐसे में यह ब्जड खराब हो जाता है। इस कारण से रक्तदान कर किसी कि जिंदगी इससे बचाई जा सकती है। इस कारण ही अधिक से अधिक रक्तदान करने की सलाह दी जाती है। रक्तदान से बीमारियों का खतरा भी काफी हद तक कम हो जाता है। इंडियन रेडक्रास सोसाइटी बिहार के चेयरमैन डॉ विनय बहादुर सिन्हा का कहना है कि 35 से 42 दिन के अंदर आपके शरीर के अंदर एक यूनिट RBC टूट जाता है मतलब करीब एक यूनिट ब्लड अपने आप डेड हो जाता है। इस डेड होते ब्लड के जरिए आप किसी की जिंदगी बचाने का माध्यम बन सकते है।

कोविड प्रोटोकाल का पालन कर करें रक्तदान

सोमवार को विश्व रक्तदाता दिवस है। ऐसे में रक्तदान के कई कैंप लगाए गए हैं। रक्तदान के लिए जा रहे हैं तो कोरोना का प्रोटोकाल पूरी तरह से पालन करें जिससे संक्रमण का खतरा नहीं हो। पटना में सबसे बड़ा रक्तदान का शिविर लग रहा है और इसमें रक्तदान करने के लिए कोरोना के गाइडलाइन को लेकर विशेष व्यवस्था की गई है।

IAS भवन में मेगा कैंप

पटना में IAS भवन में सोमवार को रक्तदान का मेगा कैंप लगाया जा रहा है। सुबह 10 बजे से रक्तदान का कार्यक्रम शुरु होकर दो बजे तक चलेगा। कैंप में वन विभाग,बिहार की तरफ से एक पौधा और एक प्रतीक चिन्ह भेंट किया जाएगा। PMCH की तरफ से एक डोनर कार्ड और एक सर्टिफिकेट भी दिया जाएगा। BSACS और SHS की तरफ से पहले 100 डोनर को एक मास्क, एक सेनेटाइजर , प्रतीक चिन्ह ,फ़ोटो फ्रेम दिया जाएगा। बादशाह अगरबत्ती की तरफ से एक प्रतीक चिन्ह भी दिया जाएगा।

खबरें और भी हैं…



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here