राजद के कार्यालय सचिव को जगदानंद सिंह ने हटाया: तेजप्रताप यादव ने कहा- 28 वर्षों से पार्टी की सेवा करने वाले को हटाना तानाशाही

0
48


पटना3 घंटे पहले

  • कॉपी लिंक

RJD कार्यालय के पूर्व सचिव चंद्रेश्वर प्रसाद सिंह के साथ तेज प्रताप यादव।

RJD (राष्ट्रीय जनता दल) ने अपने कार्यालय सचिव चंद्रेश्वर प्रसाद सिंह को हटा दिया है। जानकारी है कि पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष जगदानंद सिंह ने उन्हें कर्तव्य में लापरवाही के आरोप में पदमुक्त कर दिया है। इसको लेकर लालू प्रसाद के बड़े बेटे तेजप्रताप यादव ने सोशल मीडिया पर चंद्रेश्वर प्रसाद सिंह को सम्मानित करते हुए फोटो पोस्ट किया है और उनसे जुड़ी बातें लिखी हैं।

तेज प्रताप यादव ने फेसबुक पर लिखा पोस्ट।

तेज प्रताप यादव ने फेसबुक पर लिखा पोस्ट।

28 वर्षों से बुरे से बुरे वक्त में भी राजद के साथ रहे
तेजप्रताप यादव ने लिखा है कि ‘ 28 वर्षों तक पार्टी को अपना सब कुछ देने वाले चंदेश्वर जी को चाचा जगदानंद सिंह ने बिना किसी कारण पार्टी से बाहर निकाल दिया। बचपन से ही मैं चंदेश्वर जी को देखता आ रहा हूं। पिताजी और पार्टी के प्रति उनका प्रेम निस्वार्थ रहा। कभी उन्होंने किसी पद की लालसा नही दिखाई। पार्टी के साथ 28 वर्षो से बुरे से बुरे वक्त में भी खड़े रहे और आज जब उनकी भीगी आंखों में समाए अपमान की पीड़ा की गहराई को देखा तो बहुत दिल को बहुत तकलीफ हुई कि किस तरह से तानाशाही का शिकार पार्टी के सबसे वफादार कार्यकर्ता को बिना किसी गलती के एक झटके में बाहर का रास्ता दिखा दिया गया। लेकिन मैं याद दिला दूं कि मैं और मेरे पिताजी हर वक्त इन जैसे निःस्वार्थ भाव से पार्टी को अपना खून पसीना देने वाले कार्यकर्ताओ के साथ खड़े है और हमेशा रहेंगे।’

तेजप्रताप ने फिर कहा- पार्टी में तानाशाही
तेजप्रतप यादव ने चंद्रेश्वर प्रसाद सिंह को सम्मानित करते हुए फोटो भी सोशल मीडिया पर पोस्ट की है। लालू प्रसाद की एक ब्लैक एंड व्हाइट फोटो देते हुए भी एक फोटो इनमें से एक है। तेजप्रताप यादव ने जगदानंद सिंह पर तानाशाही का आरोप लगाया है। इससे पहले तेजप्रताप यादव जगदानंद सिंह को पार्टी कार्यालय के मंच से हिटलर कहा था। तब जगदानंद सिंह कई दिनों तक राजद कार्यालय नहीं आए थे। जानकारी है कि तेजस्वी यादव के पटना आने पर चंद्रेश्वर प्रसाद सिंह, नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव से भी मिलेंगे और अपनी बात रखेंगे।

खबरें और भी हैं…



Source link