वीडियो बनाओ, कार का Insurance पाओ, लॉकडाउन में तेजी से बढ़ा चलन, ऐसे करता है काम

0
28


नई दिल्ली: Vehicle Video Inspection: कोरोना महामारी के बीच एक तरफ हम गंभीर हालातों से गुजर रहे हैं, तो दूसरी ओर इस आपदा में हमने कई नई चीजों को अपनाया है, अपनी जिंदगी में शामिल किया है. इसी में से एक है गाड़ियों का वीडियो इंसपेक्शन. इस सुविधा में आप खुद अपनी गाड़ी का वीडियो बनाते हैं, जिसके आधार पर इंश्योरेंस, क्लेम वगैरह आसानी से मिल जाता है.

गाड़ियों के वीडियो इंसपेक्शन का चलन बढ़ा

लॉकडाउन के दौरान गाड़ियों के वीडियो इंसपेक्शन (vehicle video inspections) सर्विस में तेजी देखने को मिली है. वित्त वर्ष 2020-21 में लॉकडाउन के दौरान इंश्योरेंस सर्विस प्लेटफॉर्म Insurtech WIMWIsure ने दो लाख से ज्यादा वर्चुअल इंसपेक्शन किए हैं. जिसमें पैसेंजर और कमर्शियल दोनों तरह की गाड़ियां शामिल रहीं हैं. WIMWIsure ऑन डिमांड आर्टिफिशियल इंटेलीजेंस (AI) वीडियो इंसपेक्शन प्लेटफॉर्म मुहैया कराता है. 

ये भी पढ़ें- 7th Pay Commission: केंद्रीय कर्मचारियों के लिए Good News! जुलाई से Night Duty पर मिलेगा अलग से भत्ता

डिमांड में वीडियो इंसपेक्शन

साल 2017 में Insurtech WIMWIsure कंपनी लॉन्च हुई थी, तब से लेकर अबतक साढ़े तीन लाख से ज्यादा वीडियो इंसपेक्शन कर चुकी है. जिसमें सबसे ज्यादा डिमांड टियर-2 और टियर-3 शहरों से आई है. जिसमें मिड रेंज SUVs, सेडान और हैचबैक शामिल है. सेल्फ वीडियो इंसपेक्शन में लग्जरी गाड़ियां भी शामिल हैं. कमर्शियल सेगमेंट में इंश्योरेंस कंपनियों की ओर से भी काफी डिमांड आई है. 

क्या है व्हीकल वीडियो इंसपेक्शन 

आमतौर पर जब आप अपनी गाड़ी के लिए इंश्योरेंस खरीदते हैं या फिर क्लेम के लिए अप्लाई करते हैं, तो जिस कंपनी से इंश्योरेंस खरीद रहे हैं उस कंपनी से ही कोई आपकी गाड़ी का फिजिकल इंसपेक्शन करने आता है. लेकिन लॉकडाउन के दौरान ऐसा करना संभव नहीं था. तब सेल्फ वीडियो इंसपेक्शन ने कार मालिकों और इंश्योरेंस कंपनियों दोनों का काम आसान कर दिया. इसमें कार मालिक अपने मोबाइल में WIMWIsure की सेल्फ इंसपेक्शन की ऐप डाउनलोड करता है. इस ऐप में गाड़ी की फोटो, वीडियो और कई तरह की जानकारियां अपलोड करता है. जिसके बाद कंपनी गाड़ी के इंश्योरेंस को तय करती है. 

बीमा कंपनियों का खर्चा घटा

WIMWIsure के इस API इनेबल इंसपेक्शन से तमाम तरह की जानकारियां जैसे रिस्क, सूचनाओं की वैधता, रिपेयर, गाड़ी के डाटाबेस और क्लेम सेटलमेंट्स तुरंत मुहैया कराता है. इन सबके लिए कंपनी मशीन लर्निंग और ऑटोमेशन का इस्तेमाल करती है. इससे बीमा कंपनी का एडमिनिस्ट्रेशन, डिस्ट्रीब्यूशन, पॉलिसी जारी करने और क्लेम को लेकर खर्चा भी काफी कम हो जाता है. कंपनी का कहना है कि हम वीडियो इंसपेक्शन सर्विसेज को आगे और मजबूती के साथ जारी रखेंगे, साथ ही हम अभ ऑटोमेटेड क्लेम सर्विसिंग को भी लॉन्च करने की तैयारी में हैं, जिसे भारत के साथ साथ एशिया के दूसरे देशों में भी लेकर आएंगे. 

ये भी पढ़ें- Citibank भारत में समेटेगी अपना रीटेल बैंकिंग कारोबार, जानिए कर्मचारियों और खाताधारकों का क्या होगा?

LIVE TV





Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here