साइबर क्रिमिनल्स के निशाने पर गांव के लोग: पटना में लोगों के बैंक अकाउंट्स से उड़ाए गए लाखों रुपए, सुस्त चाल में पुलिस की जांच

0
8


पटना32 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक

सांकेतिक तस्वीर।

गांव में रहने वाले लोगों को विशेष सावधानी बरतने की जरूरत है। क्योंकि, साइबर क्रिमिनल्स ने गांव के रहने वाले कम पढ़े लिखे और अनपढ़ पुरुष व महिलाओं को अपने निशाने पर ले लिया है। कभी सीमकार्ड के लिए KYC जमा करने के नाम पर तो कभी किसी बहाने लोगों बैंक अकाउंट्स से रुपए गायब कर दिए जा रहे हैं। पटना जिले के पालीगंज थाना के तहत साइबर क्राइम का डराने वाला मामला सामने आया है।

हाल के दिनों में अलग-अलग कई केस दर्ज हुए। इसमें एक केस तो 8 लोगों ने मिलकर सामूहिक तौर पर दर्ज कराया है। इनमें कई महिलाएं भी शामिल हैं। सबसे बड़ी बात यह है कि लोगों के बैंक अकाउंट्स से साइबर क्रिमिनल्स रुपए गायब कर दे रहे हैं। जब लोग अपना पासबुक मेंटेन करने के लिए बैंक जा रहे हैं तब उन्हें रुपए गायब होने की जानकारी मिल रही है। 24 नवंबर से लेकर 4 दिसंबर तक में अब तक कई लोगों के साथ इस तरह की घटनाएं हुई। इसमें 10 लोगों के नाम भास्कर को मिले हैं। आश्चर्य वाली बात यह है कि केस दर्ज करने के बाद भी थाने की पुलिस की जांच सुस्त चाल में चल रही है। सवाल पूछने पर रविवार को पालीगंज के थानेदार ने इतना ही कहा, अभी जांच चल रही है।

कॉलर ने कहा बंद हो जाएगा सीमकार्ड
पालीगंज में रानी तालाब रोड के रहने वाले उदित कुमार के पास 24 नवंबर को एक नंबर से कॉल आया था। कॉलर ने खुद को टेलीकॉम कंपनी का स्टाफ बताते हुए उदित को KYC जमा करने को कहा। साथ ही यह कहकर उसे हड़काया कि KYC जमा नहीं करने पर सीमकार्ड बंद हो जाएगा। जिससे उदित डर गया। फोन पर ही KYC अपडेट करने की बात कह कर साइबर क्रिमिनल से सारा डिटेल्स ले लिया और उसके बैंक अकाउंट से 5 लाख रुपए की निकासी हो गई। जब यह बात उदित को पता चली तो फिर थाना गया और FIR नंबर 457/21 दर्ज कराया।

थोड़े-थोड़े करके निकल गए 1 लाख से अधिक
पालीगंज का रामपुर नगवां गांव सबसे अधिक प्रभावित है। इस गांव के रहने वाले मो. असलूब आलम का अकाउंट यूनियन बैंक में है। 24 नवंबर से लेकर 4 दिसंबर तक में इनके अकाउंट से थोड़े-थोड़े करके कुल 1 लाख 4 हजार 732 रुपए गायब कर दिए गए। इस मामले में FIR नंबर 468/21 दर्ज किया गया है। इन्हें भी तब पता चला जब ये बैंक गए। बैंक से जारी होने वाला कोई SMS भी इनके मोबाइल पर नहीं आया।

5 महिलाओं को भी बनाया शिकार
पालीगंज थाना में ही FIR नंबर 467/21 दर्ज है। इस केस को सामूहिक तौर पर 8 लोगों ने मिलकर दर्ज कराया है। इनमें 5 महिलाएं हैं। इन सभी के बैंक अकाउंट्स से 24, 25, 26 नवंबर को बगैर किसी जानकारी के रुपए निकल गया। किसने निकाले, ये किसी को पता नहीं है। इस मामले में 8 दिसंबर को केस हुआ। पर रिजल्ट के नाम पर कुछ भी नहीं है।

इनके अकाउंट्स से निकाले गए रुपए

  • विभा देवी – 11111
  • शोभा देवी – 6890
  • नूरजहां – 11579
  • गंगा राम – 4009
  • पिंटू कुमार – 2016
  • सीता सुंदर देवी – 4120
  • देवंती देवी – 22136
  • गिरजानंद वर्मा – 3428

खबरें और भी हैं…



Source link