सिविल सर्जन ऑफिस में टूटा कोरोना नियम: डॉक्टर, नर्स और ऑपरेटर की बहाली के लिए चल रहा इंटरव्यू, लोगों को नियम सिखाने वाले खुद भूले दो गज की दूरी

0
23


Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

मधुबनी6 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक

इंटरव्यू के लिए खड़ीं ANM अभ्यर्थी।

एक तरफ सरकार, जिला प्रशासन व स्वास्थ्य विभाग लगातार कोरोना से बचाव के लिए दो गज की दूरी मास्क है जरूरी का सख्ती से पालन करवाई में जुटी है, दूसरी तरफ सिविल सर्जन ऑफिस में ही कोरोना नियम टूट रहा है। इंटरव्यू के लिए सुबह 8 बजे से ही लाइन में लगे अभ्यर्थियों में से एक ने बताया कि उनकी बहन सहित कई ANM अभ्यर्थी भीड़ व गर्मी की वजह से बेहोश भी हो गई। वाक इन इंटरव्यू से पहले अभ्यर्थियों को कोविड जांच भी करवानी पड़ रही है, जिस वजह से परेशानी और अधिक बढ़ गई है। मामला मधुबनी जिले का है, जहां तीन महीने के लिए चिकित्सा पदाधिकारी, दंत चिकित्सक, ANM, GNM, डाटा आपरेटरों सहित अन्य स्वास्थ्य कर्मियों का वाक इन इंटरव्यू चल रहा है। वाक इन इंटरव्यू सदर अस्पताल से सटे सिविल सर्जन कार्यालय में हो रहा है। सदर अस्पताल के सटे रहने के कारण परिसर में मरीजों को भी परेशानी हो रही है।

63 चिकित्सा पदाधिकारी तो 102 ANM का होना है चयन
कोरोना की रोकथाम व बचाव के लिए आगामी तीन माह के लिए अस्थाई रूप से चिकित्सा पदाधिकारी के 63, मुर्च्छक के 12, आयुष चिकित्सकों के 48, 4 दंत चिकित्सकों के पद के लिए, प्रखंड स्वास्थ्य प्रबंधक के 2, लेखापाल के 2, लैब टेक्निशियन के 20, GNM के 96, ANM के 102, फार्मासिस्ट के 16, ECG टेक्निशियन के 04, एक्सरे टेक्निशियन के 02 व 11 डाटा ऑपरेटरों के पद के लिए वाक इन इंटरव्यू आयोजित किया जा रहा है।

एक महामारी में दो तरह के नियम क्यों
लोगों का कहना है कि कोरोना संक्रमण के मद्देनजर चौक-चौराहों पर भीड़ की वजह से कई जगहों पर लोगों पर पुलिस लाठियां भी चटकाती है, वहीं दूसरी ओर वाक इन इंटरव्यू का आयोजन करके सैंकड़ों की भीड़ जमा की जा रही है। शादी-विवाह में मेहमानों की संख्या निर्धारित की जा रही है, कई निजी कार्मक्रमों पर रोक है, इसके बावजूद सिविल सर्जन कार्यालय में इतनी भीड़ जुटाना एक महामारी में दो तरह के नियम दर्शाता है।

खबरें और भी हैं…



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here