सीमा विवाद के बीच पहली बार आमने-सामने होंगे PM मोदी-जिनपिंग, इमरान खान से भी मुलाकात

0
31


नई दिल्ली: पूर्वी लद्दाख में वास्तविक नियंत्रण रेखा (LAC) पर कई महीनों से भारत और चीन के बीच चल रहे विवाद के बीच पहली बार प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Narendra Modi) और चीनी राष्ट्रपति शी जिनपिंग (Xi Jinping) आमने-सामने होंगे. दोनों की मुलाकात आज (मंगलवार) शंघाई सहयोग संगठन (SCO) के शिखर सम्मेलन की बैठक में होगी.

व्लादिमिर पुतिन करेंगे बैठक की अध्यक्षता
ऑनलाइन शिखर सम्मेलन की मेजबानी रूस करेगा, जिसकी शुरुआत दोपहर 2 बजे होगी. बैठक की अध्यक्षता रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन (Vladimir Putin) करेंगे. शंघाई सहयोग सम्मेलन की यह तीसरी मीटिंग है, जिसमें भारत पूर्ण सदस्य के रूप में भाग ले रहा है.

विदेश मंत्रालय ने दी जानकारी
विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता अनुराग श्रीवास्तव (Anurag Srivastava) ने वर्चुअल समिट की जानकारी देते हुए कहा, ‘प्रधानमंत्री एससीओ (SCO) के राष्ट्र प्रमुखों की परिषद के 20वें शिखर सम्मेलन में भारतीय प्रतिनिधिमंडल का नेत‍ृत्व करेंगे, जो 10 नवंबर को ऑनलाइन आयोजित होगा. बैठक की अध्यक्षता रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन करेंगे.’

काफी अहम है मोदी-जिनपिंग की मुलाकात
बता दें कि भारत और चीन (India-China) के बीच इस साल मई से ही पूर्वी लद्दाख में सीमा को लेकर विवाद चल रहा है और इसे खत्म करने के लिए दोनों देशों के बीच कई दौर की सैन्य और कूटनीतिक वार्ता हो चुकी है, जो विफल रही है. इस साल जून में चीनी सैनिकों के साथ हिंसक झड़प में 20 भारतीय जवान शहीद हो गए थे. तब से दोनों पड़ोसी देशों के बीच संबंध खराब हुए हैं, इसके बाद पीएम मोदी और जिनपिंग के बीच यह बैठक काफी अहम मानी जा रही है.

इमरान खान भी बैठक में होंगे शामिल
शंघाई सहयोग संगठन (SCO) शिखर सम्मेलन में पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान (Imran Khan) भी शामिल होंगे. इसके अलावा कजाकिस्तान, ताजिकिस्तान और उज्‍बेकिस्‍तान के नेता भी सम्मेलन में हिस्सा लेंगे.

सदस्य देशों के बीच इन मुद्दों पर होगी चर्चा
इस वर्चुअल सम्मेलन के दौरान सभी सदस्य देश सुरक्षा, आतंकरोधी कार्रवाई, आर्थिक, मानवीय सहयोग समेत महत्वपूर्ण क्षेत्रों में सहयोग बढ़ाने पर चर्चा करेंगे. इसके अलावा शिक्षा, विज्ञान, सांस्कृतिक और पर्यटन क्षेत्र में सहयोग बढ़ाने पर भी बात करेंगे.

LIVE टीवी





Source link