2011 विश्व कप जीत के 10 साल बाद बड़ा खुलासा, एमएस धोनी ने इसलिए मुंडवा लिया था सिर

0
92


नई दिल्ली: भारत की दूसरी विश्व कप जीत के लिए आज पूरे 10 साल पूरे हो गए हैं। श्रीलंका के खिलाफ 2 अप्रैल 2011 को मुंबई के वनखेड़े स्टेडियम में खेले गए फाइनल में गौतम गंभीर (गौतम गंभीर) के 97 और कप्तान महेंद्र सिंह धोनी (एमएस धोनी) के नाबाद 91 रनों की बदौलत भारत ने इस मैच को 6 विकेट से जीता था। विश्व कप जीत के बाद धोनी ने अपना सिर मुंडवा लिया था। हालाँकि अब इस बात का खुलासा हो गया है कि धोनी ने ऐसा क्यों किया था।

टीम मैनेजर ने किया खुलासा

2011 विश्व कप के दौरान टीम के मैनेजर रंजीब बिस्वाल (रंजीब बिस्वाल) ने खुलासा किया है कि आखिर क्यों धोनी (एमएस धोनी) ने जीत के बाद अपना सिर मुंडवा लिया था। बिस्वाल ने ANI को बताया कि ‘जीत के बाद खिलाड़ी सुबह 4.30 बजे तक पार्टी करेंगे। उन्हें हैरानी तब हुई जब सभी ने सुबह देखा कि धोनी ने सिर मुंडवा लिया है। ये सबसे हैरान कर देने वाला पल रहा। फाइनल के बाद सुबह हम लोग धोनी को इस रूप में देखें, इसका कोई को अंजाजा नहीं था। हम सब ने देर रात तक ड्रेसिंग रूम में जश्न मनाया, जिसके बाद हम सभी अपने कमरे में चले गए थे, सुबह जो हमने देखा वह हैरान करने वाली थी। धोनी ने सिर मुंडवा लिया था। उन्हें देखने के बाद तो कुछ देर के लिए हम हैरान रह गए थे। ‘

बिस्वाल (रंजीब बिस्वाल) ने आगे कहा कि जब तक जश्न चल रहा था तब तक धोनी (एमएस धोनी) हमारे साथ थे। बाद में वह अपने कमरे में गई और उन्होंने अपना सिर मुंडवा लिया। उन्होंने इसके बारे में किसी को नहीं बताया था। धोनी (एमएस धोनी) अपनी भावनाओं को अपने अंदर ही रखते हैं और ज्यादा जाहिर नहीं करते हैं। मुझे लगता है कि धोनी ने कोई संकल्प नहीं लिया होगा। किस कारण से ये हमें भी पता नहीं था।

पहले भी उड़ी में कई बातें हुई थीं

भारत ने जब विश्व कप जीता था तो कई लोग ये भी कह रहे थे कि धोनी (एमएस धोनी) ने विश्व कप शुरू होने से पहले रांची में अपने घर के करीब स्थित मंदिर में मन्नत पूछा था। उन्हें मंदिर के एक पुजारी ने सुबह पौने तीन से तीन बजे के बीच सिर गंजा करने की सलाह दी थी। बता दें कि धोनी भारत के सबसे सफल कप्तान रहे हैं। धोनी (एमएस धोनी) की कप्तानी में भारत ने दो विश्व कप और एक चेनियां ट्राफी का खिताब जीता था।





Source link