CM के हमलावर का हाथ तोड़नेवाले को मिलेगा इनाम: जदयू नेता ने कहा- ऐसे क्रांतिकारी साथी को 1.11 लाख रुपए देंगे, यह बिहार पर हमला

0
9



सीतामढ़ी34 मिनट पहले

बिहार के CM नीतीश कुमार पर रविवार को बख्तियारपुर में हुए हमले के मामले में जदयू कार्यकर्ता आक्रोश में हैं। सीतामढ़ी जिले के एक शख्स ने तो हमलावर का हाथ तोड़नेवाले को एक लाख ग्यारह हजार रुपए का इनाम देने तक का ऐलान कर दिया है। कहा है कि यह हमला CM पर नहीं, पूरे बिहार पर हुआ है। इस इनाम का ऐलान करनेवाले शख्स का नाम चंदन सिंह सम्राट है। वो खुद को जदयू के युवा नेता बताते हैं। उन्होंने सोशल मीडिया पर एक वीडियो जारी किया है।

चंदन ने अपने वीडियो में कहा है कि सीएम के कार्यक्रम में यह बड़ी चूक हुई है। इसको लेकर युवाओं को आगे आना चाहिए। बिहार के सभी क्रांतिकारी युवा साथियों से अपील है कि जो सबसे पहले इसका हाथ तोड़ेंगे, उसे 1 लाख 11 हजार का नगद इनाम देंगे। जदयू नेता ने साथ ही पुलिस-प्रशासन से अपील की है कि इस बड़ी साजिश के पीछे कौन है, 24 घंटे के अंदर इसका पता लगाया जाए। साथ ही पुलिस हिरासत से बाहर आने के बाद उस युवक पर कड़ी नजर रखी जाए।

सीएम ने कही माफी की बात, नेता कर रहे बदजुबानी
हालांकि कल की घटना के बाद सीएम नीतीश कुमार की ओर से युवक को मानसिक रूप से विक्षिप्त बताया गया है। उसे कोई सजा न देने और मारपीट नहीं करने का भी निर्देश दिया गया है। इधर उन्हीं की पार्टी के नेता हाथ तोड़ने पर इनाम देने की बात कह रहे हैं। इसपर सीतामढ़ी में राजद के युवा नेता सह मीडिया प्रभारी मुकेश यादव ने कहा है कि नीतीश कुमार खुद हमलावर को छोड़ने के लिए बोल रहे हैं और अपनेी पार्टी के नेताओं को छूट दे रहे हैं। सीएम नीतीश खुद मान रहे कि वह शख्स मानसिक रूप से विक्षिप्त है, तो उसे छोड़ दिया जाना चाहिए।

बता दें कि CM नीतीश कुमार को एक सिरफिरे युवक ने रविवार को मुक्का जड़ दिया। तब वे बख्तियारपुर में स्वतंत्रता सेनानी पंडित शीलभद्र याजी की प्रतिमा पर माल्यापर्ण कर रहे थे। इसी दौरान कड़ी सुरक्षा व्यवस्था के बाद भी उन पर पीछे से वार कर दिया। पुलिस ने इसके बाद से युवक को हिरासत में रखा है। उसके बारे में जांच कर जानकारी ली जा रही है। युवक बख्तियारपुर के अबू मोहम्मद पुर मोहल्ला निवासी श्याम सुंदर वर्मा का 32 वर्षीय पुत्र शंकर कुमार वर्मा उर्फ छोटू है।

CM का हमलावर मानसिक रोगी या कुछ और? जानिए कहानी…: परिवार ने कहा- सुसाइड की कोशिश कर चुका है; पड़ोसी बोले- पैसों के लिए कुछ भी कर सकता था

जानिए, नीतीश कुमार पर कब-कब हुए हैं हमले: जनता दरबार में चप्पल तो चुनावी जनसभा में प्याज और पत्थर का CM को करना पड़ा है सामना

CM की सिक्यूरिटी के लिए अलग से होती है ट्रेनिंग: कई लेयर में होती है मुख्यमंत्री की सुरक्षा, सबसे नजदीक रहती है CPT की टीम; 40% ज्यादा दी जाती है सैलरी

खबरें और भी हैं…



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here