CM नीतीश के गृह जिले में पानी की किल्लत, VIDEO: लोग बोले- शौचालय तो बना दिया पर टंकी में पानी ही नहीं, पानी के लिए चलना पड़ता 800 मीटर

0
13



नालंदाएक घंटा पहले

बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के गृह जिला नालंदा में एक ऐसी महादलित बस्ती है, जहां लोग पानी के लिए दर-दर की ठोकरें खा रहे हैं। बिहारशरीफ मुख्यालय से 3 किलोमीटर की दूरी पर स्थित कोसुक महादलित बस्ती। इस बस्ती में कुल 45 घर है। जिसमें 275 लोग रहते हैं। गर्मी आने से पहले ही पीने की पानी के लिए यहां के लोगों को परेशानियों का सामना करना पड़ता है।

बस्ती की निवासी रेणु देवी ने बताया कि यहां 4 हैंडपंप लगे हुए थे। चारों हैंडपंप अभी उपयोग में नहीं है। उन्हें पानी के लिए फोरलेन सड़क पार कर आधा कोश ( 800 मीटर) की दूरी तय करनी पड़ती है। कभी-कभी तो नदी का पानी भी पीना पड़ता है। वहीं, बस्ती की निवासी मुन्नी देवी ने बताया कि सार्वजनिक शौचालय तो बना दिया गया है। लेकिन उसमें पानी की व्यवस्था नहीं की गई है। शौचालय के ऊपर लगी टंकी भी सिर्फ शोभा की वस्तु बनकर रह गई है। निर्माण काल से ही सामुदायिक शौचालय में ताला लटका हुआ है। पूरे तामझाम के साथ सामुदायिक शौचालय बना दिया गया था। लेकिन पानी की व्यवस्था नहीं रहने के कारण बस्ती के लोग इसे इस्तेमाल ही नहीं कर पा रहें।

पास की पंचाने नदी बनी सहारा
महादलित बस्ती के पीछे बहने वाली पंचाने नदी बस्ती के लोगों के लिए सहारा बनी हुई है। इसी के पानी का इस्तेमाल लोग कपड़े धोने, बर्तन धोने और नहाने में उपयोग कर रहे है। कभी-कभी तो बस्ती के लोग नदी के पानी को पीने के लिए भी विवश हो जाते है। शौच के लिए भी उन्हें नदी किनारों पर ही जाना पड़ता है।

क्या बोले प्रखण्ड विकास पदाधिकारी
बिहार शरीफ के प्रखण्ड विकास पदाधिकारी अंजन दत्ता ने बताया कि – “अब राणा बीघा पंचायत का कोसुक महादलित बस्ती नगर निगम क्षेत्र में आ गया है। बाबजूद चापाकल से संबंधित समस्या को पीएचडी विभाग को अवगत करा दिया गया है। एक-दो दिन में समस्या का समाधान कर दिया जाएगा।” सामुदायिक शौचालय से संबंधित सवाल पर उन्होंने कहा कि इसे दिखवा लिया जाएगा।

(रिपोर्ट- सूरज कुमार, नालंदा)

खबरें और भी हैं…



Source link