Co-Win पर अब वैक्सीन चुनने का विकल्प: बिहार में कोवैक्सिन का विकल्प चुना तो होगी मुश्किल, वैक्सीन के साथ साइट भी है कम

0
61


Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

पटना26 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक

कोविन पोर्टल पर सरकार ने बड़ा बदलाव किया है। अब रजिस्ट्रेशन के दौरान वैक्सीन चुनने का विकल्प दिया जाएगा। अगर आप बिहार में हैं तो इस विकल्प का चयन काफी पड़ताल के बाद करें। बिहार में सबसे अधिक कोवीशील्ड की डोज दी गई है, इस कारण से इसकी साइट हर जगह मिल जाती है, लेकिन कोवैक्सिन में डोज के साथ साइट भी कम होती है। अब तक प्रदेश में 7451610 लोगों ने कोवीशील्ड की डोज ली है, जबकि कोवैक्सिन लेने वालों की संख्या महज 456077 है। इसके पीछे बड़ा कारण है कि कोवैक्सिन मेडिकल कॉलेजों के साथ कुछ गिने-चुने सेंटरों को ही दी जाती है, जबकि कोवीशील्ड हर सेंटर पर होती है।

बिहार में 5 जिलों में लगी है कोवैक्सिन

बिहार के मात्र 5 जिले ऐसे हैं, जहां कोवैक्सिन लगी है। इन जिलों में पटना, मुजफ्फरपुर, वैशाली, गया और भागलपुर शामिल हैं। बाकी के 33 जिलों में जितनी भी डोज दी गई है वह कोवीशील्ड की है।

किस जिले में कितनी लगी वैक्सीन

  • अररिया 155679
  • अरवल 48032
  • औरंगाबाद 127301
  • बांका 163932
  • बेगूसराय 252496
  • भागलपुर 269978 कोविशिल्ड, 6947 कोवैक्सीन
  • भोजपुर 192819
  • बक्सर 137995
  • दरभंगा 318165
  • पूर्वी चंपारण 294784
  • गया 219738 कोविशिल्ड, 80651 कोवैक्सीन
  • गोपालगंज 182487
  • जमुई 134962
  • जहानाबाद 78174
  • कैमूर 110591
  • कटिहार 168092
  • खगड़िया 114526
  • किशनगंज 108917
  • लखीसराय 61087
  • मधेपुरा 148573
  • मधुबनी 329670
  • मुंगेर 114250
  • मुजफ्फरपुर 293286 कोवैक्सीन 10117 कोवैक्सीन
  • नालंदा 288316
  • नवादा 170337
  • पटना 353390 कोवैक्सीन 334613 कोवैक्सीन
  • पूर्णिया 270992
  • रोहतास 210857
  • सहरसा 153841
  • समस्तीपुर 327741
  • सारण 363438
  • शेखपुरा 56084
  • शिवहर 67774
  • सीतामढ़ी 226847
  • सरवान 351634
  • सुपौल 146316
  • वैशाली 237158 कोवैक्सीन 21577 कोवैक्सीन
  • पंश्चिमी चंपारण 198351

यह फीचर किया गया बदलाव

  • सबसे पहले कोविन पोर्टल पर जाएं। इसके लिए अपने कम्प्यूटर या मोबाइल में http://cowin.gov.in एंटर करें।
  • आपकी स्क्रीन के दाएं हाथ पर ऊपर की ओर Register / Sign In Yourself पर क्लिक करें।
  • अपना मोबाइल नंबर एंटर करें और Get OTP पर क्लिक करें।
  • मोबाइल में आए OTP को एंटर कर वेरिफाई करें।
  • इसके बाद वैक्सीन के लिए रजिस्टर करें। यहां आपको फोटो आईडी प्रूफ, नाम, जेंडर और जन्म का साल एंटर करना होगा। ध्यान रहे कि जो भी जानकारी आप डाल रहे हैं उसे फोटो आईडी प्रूफ के हिसाब से ही एंटर करें। वैक्सीनेशन के समय ये आईडी प्रूफ आपको साथ ले जाना होगा।
  • रजिस्ट्रेशन की प्रोसेस यहां समाप्त हो गई। अब आप अपॉइंटमेंट शेड्यूल कर सकेंगे।
  • अपॉइंटमेंट शेड्यूल करने के लिए पंजीकृत व्यक्ति के नाम के आगे शेड्यूल पर क्लिक करें।
  • यहां आप पिनकोड या जिले के आधार पर अपना नजदीकी वैक्सीनेशन केंद्र सर्च कर सकेंगे।
  • यहां आप एज ग्रुप, कोवीशील्ड और कोवैक्सिन, फ्री या पेड वैक्सीन चुन सकेंगे।
  • अपनी सहूलियत के हिसाब से अपॉइंटमेंट बुक करें। अपॉइंटमेंट बुक होने के बाद आपको कंफर्मेशन मैसेज मिलेगा। जिसमें 4 अंकों का एक कोड भी होगा। इस कोड को वैक्सीनेशन के समय संबंधित स्वास्थ्यकर्मी को दिखाना होगा।

वैक्सीन के चयन में घूमा तो संक्रमण का डर

अगर वैक्सीन के विकल्प का चयन कर अपनी पसंद की वैक्सीन लगाने के लिए हॉस्पिटल घूमे तो संक्रमण का खतरा होगा। ऐसे में एक्सपर्ट का कहना है कि कोरोना काल में अधिक अस्पतालों में घूमना ठीक नहीं है। इसलिए चयन में जो भी वैक्सीन हो उसे लगाना ठीक होगा।

एक्सपर्ट बोले, दोनों वैक्सीन ठीक

IMA बिहार के पूर्व अध्यक्ष डॉ सच्चिदानंद कहते हैं कि दोनों वैक्सीन काफी ठीक है। दोनों में से कोई भी लगवाया जा सकता है। चयन के लिए किसी को भी परेशान नहीं होना है। पास के सेंटर पर जो भी वैक्सीन उपलब्ध हो उसी का टीका लगवा लेना है। दोनों वैक्सीन पर पूरा भरोसा है। किसी में कोई असर कम नहीं होता है। बस सेंटर का अंतर होता है। कोवैक्सिन के सेंटर कम हैं, जबकि कोवीशील्ड हर जिले में आसानी से मिल जाती है।

खबरें और भी हैं…



Source link