Google के इस ऐलान से हजारों नौकरियों पर खतरा, CEO सुंदर पिचाई के बयान से मचा हड़कंप

0
46
Google के इस ऐलान से हजारों नौकरियों पर खतरा, CEO सुंदर पिचाई के बयान से मचा हड़कंप


Tech layoffs 2023: दुनियाभर में हजारों लोगों की नौकरियों पर तलवार लटक रही है. कई कंपनियां अपने कर्मचारीयों की छुट्टी तेजी से करने को तैयार हैं. टेक सेक्टर में हजारों नौकरियों पर खतरा बना हुआ है. वैश्विक छटनी के दौर में गूगल का ऐलान कर्मचारियों के लिए खतरे की घंटी से कम नहीं है. गूगल की पैरंट कंपनी alphabet.inc ने कहा है कि वह 12 हजार कर्मचारियों को बाहर का रास्ता दिखा सकती है. इस संबंध में कंपनी के कर्मचारियों को एक मेल भी मिला है जिसे 20 जनवरी को गूगल के सीईओ सुंदर पिचाई ने भेजा है. गूगल वैश्विक स्तर पर करीब 6% वर्कफोर्स में कटौती करने की तैयारी कर रही है. आपको बता दें कि पिछले महीने दिग्गज कंपनियां मेटा, अमेजन और ट्विटर ने भी कर्मचारियों की संख्या में कमी करने की घोषणा की थी.

2023 में वैश्विक स्तर पर मंदी की आशंका

ब्लूमबर्ग में छपी रिपोर्ट में कहा गया है कि गूगल आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस पर अब ज्यादा जोर देने वाली है. कर्मचारियों को मिले मेल में कहा गया कि कंपनी अपने टारगेट को लेकर और अधिक फोकस करेगी और अपनी लागत में सुधार करेगी. इसके अलावा कंपनी टैलेंट और पूंजी को अपनी प्राथमिकताओं के लिए इस्तेमाल ज्यादा करेगी. ब्लूमबर्ग के रिपोर्ट की मानें तो निवेशकों के दबाव की वजह से गूगल को यह कदम उठाना पड़ रहा है. इस फैसले के लिए सुंदर पिचाई ने जिम्मेदारी भी ली है. आपको बता दें कि साल 2017 में कंपनी ने 20 फीसदी कर्मचारियों की बढ़ोत्तरी की थी. साल 2023 में वैश्विक स्तर पर मंदी की आशंका जताई जा रही है जिसकी वजह से तमाम कंपनियां अपने कर्मचारियों की संख्या में कमी कर रही हैं.

हजारों नौकरियों पर संकट

कर्मचारियों की संख्या में कटौती को लेकर माइक्रोसॉफ्ट ने भी पहल की है. 10 जनवरी को ही माइक्रोसॉफ्ट ने ऐलान कर दिया था कि वह साल 2023 की तीसरी तिमाही में 10,000 कर्मचारियों को बाहर का रास्ता दिखाएगी. अमेजन की बात करें तो कंपनी 18 हजार कर्मचारियों की कटौती कर सकती है.

पाठकों की पहली पसंद Zeenews.com/Hindi – अब किसी और की ज़रूरत नहीं





Source link