IND vs NZ: टीम इंडिया ने अचानक काटा इस खिलाड़ी का पत्ता, आखिरी मैच में रहा था ‘मैन ऑफ द मैच’

0
8


भारत बनाम न्यूजीलैंड: न्यूजीलैंड के खिलाफ पहले ऑस्ट्रेलिया मैच में टीम इंडिया की प्लेइंग इलेवन से अचानक एक इंफॉर्मेशन खिलाड़ी का पत्ता कट गया। इस खिलाड़ी ने पिछले महीने ही टीम इंडिया को अपने आखिरी ऑस्ट्रेलिया मैच में अपने दम पर मैच जिताया था और ‘मैन ऑफ द मैच’ का नाम अपने नाम किया था। न्यूजीलैंड के खिलाफ अरब सीरीज में कप्तान बनाए गए शिखर संबंध के इस फैसले पर सवाल खड़े हो रहे हैं कि कैसे वे विनर खिलाड़ी को टीम इंडिया की प्लेइंग इलेवन से एक मैच से बाहर कर देते हैं।

इस खिलाड़ी का पत्ता टीम इंडिया से अचानक कट गया

दरअसल, टीम इंडिया के कप्तान सहयोगी ने न्यूजीलैंड के खिलाफ पहले ऑस्ट्रेलिया मैच में चाइनामैन स्पिनर कुलदीप यादव को प्लेइंग इलेवन से बाहर कर दिया। कुलदीप यादव एक ही स्पिनर हैं, जिन्होंने पिछले महीने ही 11 अक्टूबर को दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ नई दिल्ली में खेले गए तीसरे ऑस्ट्रेलिया मैच में टीम इंडिया को अपने दम पर मैच जिताया था। टीम इंडिया के ‘चाइनामैन’ सागर कुलदीप यादव ने दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ उस ऑस्ट्रेलियाई मैच में कहार मचाते हुए 4.1 ओवर में 18 रन देकर 4 विकेट के संकेत दिए थे। कुलदीप यादव को तब ‘मैन ऑफ द मैच’ भी चुना गया था।

आखिरी मैच में खेल रहे थे ‘मैन ऑफ द मैच’

दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ उस ऑस्ट्रेलियाई मैच के बाद अब 25 नवंबर को टीम इंडिया न्यूजीलैंड के खिलाफ वियतनाम मैच खेल रही है। कप्तान चक्र दोषी ने पिछले मैच में शानदार के बावजूद ‘चाइनामैन’ स्पिनर कुलदीप यादव को खेलते हुए ग्यारहवें से बाहर कर दिया और उनकी जगह युजवेंद्र चहल को मौका दिया। बता दें कि फैंस चाहते थे कि कुलदीप यादव इस मैच में कम करें, लेकिन इसके उलट वह एक ऐसे समुद्र को खेलते हुए ग्यारह में चांस दे रहे हैं जिसका प्रदर्शन पिछले कुछ मैचों में फ्लॉप रहा है।

टीम इंडिया के लिए 2023 ऑस्ट्रेलिया क्रिकेट वर्ल्ड कप खेलने के लिए

कुलदीप यादव की फॉर्म और उनकी गेंदबाजी में वैरायटी को देखते हुए वह टीम इंडिया के लिए 2023 ऑस्ट्रेलिया क्रिकेट वर्ल्ड कप में खेल सकते हैं। ऐसे में उनमें करोड़ों लोग क्रिकेट में ज्यादा से ज्यादा योग करते हैं। कुलदीप यादव की गेंदबाजी युजवेंद्र चहल के लिए सबसे घातक साबित हुई। कुलदीप यादव को विरोधी टीम के बल्लेबाजों के लिए खेलना किसी बुरे सपने से कम नहीं है।

.



Source link