Jeff Bezos, Elon Musk समेत 25 रईसों ने नहीं भरा टैक्स, अमेरिकी टैक्स सिस्टम की खुली पोल!

0
15


वॉशिंगटन: अमेरिका के 25 सबसे अमीर लोग कोई टैक्स नहीं देते हैं, इसमें जेफ बेजोस, माइकल ब्लूमबर्ग और एलन मस्क जैसे दुनिया के सबसे बड़े रईस शामिल है. The New York Times में एक रिपोर्ट छपी है कि, समाचार संगठन ProPublica के एक एनालिसिस के अनुसार जो आंतरिक राजस्व सेवा कर डेटा के एक समूह पर आधारित था, 2014 से 2018 के बीच इन रईसों ने अपनी कमाई के हिसाब से या तो बहुत कम टैक्स दिया या फिर बिल्कुल नहीं के बराबर टैक्स दिया. 

अमेरिका के टॉप 25 रईस नहीं भरते हैं Tax 

एनालिसिस से पता चलता है कि Forbes की ओर से तैयार की गई एक सारणी के मुताबिक, अमेरिका में देश के सबसे अमीर लोगों ने टैक्स में अपनी संपत्ति का केवल एक अंश – 13.6 बिलियन डॉलर का ही भुगतान किया जबकि उनकी कुल सामूहिक संपत्ति 401 बिलियन डॉलर से बढ़ी थी. एनालिसिस के मुताबिक साल 2014 से 2018 के दौरान अमेरिका के टॉप 25 सबसे रईस लोगों ने 15.8 परसेंट या 13.6 बिलियन डॉलर का औसत टैक्स चुकाया. 

ये भी पढ़ें- 7th Pay Commission: केंद्रीय कर्मचारियों के DA एरियर पर बड़ी खबर! 1 जुलाई से बढ़ा हुआ महंगाई भत्ता ही मिलेगा

US टैक्स सिस्टम में खामियों का उठाया फायदा

इन डॉक्यूमेंट्स से पता पता चलता है कि अमेरिकी टैक्स सिस्टम में किस कदर असामनता है. क्योंकि जेफ बेजोस, ब्लूमबर्ग, वॉरेन बफे, एलन मस्क और जॉर्ज सोरोस जैसे 
प्लूटोक्रेट टैक्स कोड में खामियों का फायदा उठाने में सक्षम थे. दरअसल, ज्यादातर धन जो ये अमीर कमाते हैं, जैसे- उनके द्वारा चलाई जा रही कंपनियों के शेयर, वैकेशन होम्स, यॉट और दूसरे तमाम तरह के निवेश ‘टैक्सेबल इनकम’ के दायरे में ही नहीं आते हैं. इन्हें तभी टैक्सेबल माना जाता है जब उन संपत्तियों को बेचते हैं और फायदा उठाते है. इसके बाद भी टैक्स कोड में कई खामियां हैं जो उनकी टैक्स देनदारी को या तो सीमित कर देते हैं या खत्म कर देते हैं.  

बाइडेन ने पलटा ट्रंप का फैसला 

लेकिन अब इन अरबपतियों की रणनीति में एक नया मोड़ तब आता है जब राष्ट्रपति जो बाइडेन टैक्स कोड को ओवरहॉल करने की कोशिश कर रहे हैं ताकि करॉर्पोरेशन और अमीर ज्यादा टैक्स भुगतान करें. बाइडेन ने टॉप मार्जिनल इनकम टैक्स रेट को 37 परसेंट से बढ़ाकर 39.6 परसेंट करने का प्रस्ताव दिया है. बाइडेन का ये फैसला पूर्व राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प की 2017 की टैक्स कटौती के फैसले को उलट देगा. 

जेफ बेजोस ने टैक्स के नाम पर कुछ नहीं दिया

ProPublica के मुताबिक, Amazon के चीफ एग्जिक्यूटिव ऑफिसर जेफ बेजोस ने साल 2007 में टैक्स के नाम पर कुछ भी नहीं दिया, जबकि उनकी कंपनी के शेयरों की कीमत दोगुनी हुई थी. इसके उलट चार साल बाद जब उनकी दौलत 18 बिलियन डॉलर घटी थी, बेजोस ने नुकसान दिखाकर अपने बच्चों के नाम पर 4000 डॉलर का टैक्स क्रेडिट ले लिया था. इसे लेकर अमेजन की ओर से जवाब मांगा गया, लेकिन अबतक उनकी तरफ से कोई जवाब नहीं मिला है. 

वॉरेन बफे ने भी नहीं के बराबर टैक्स भरा

Berkshire Hathaway के CEO वॉरेन बफे ने एक बार कहा था कि अमीरों से सबसे ज्यादा टैक्स लिया जाना चाहिए, इन्होंने साल 2014-2018 के दौरान सिर्फ 23.7 मिलियन डॉलर ही टैक्स रूप में भरा, जबकि उनकी दौलत 24.3 बिलियन डॉलर बढ़ी थी. रिपोर्ट के मुताबिक, जॉर्ज सोरोस, एक अरबपति, दानवीर और निवेशक है, लगातार तीन सालों तक उन्होंने कोई टैक्स नहीं दिया. जॉर्ज सोरोस के प्रवक्ता ने ProPublica को बताया कि साल 2016 से 2018 के बीच सोरोस ने अपने निवेश में नुकसान उठाया, इसलिए इस दौरान उन पर कोई इनकम टैक्स देनदारी नहीं बनती थी.

माइलक ब्लूमबर्ग ने भी कम टैक्स चुकाया

मीडिया दिग्गज Bloomberg के मालिक माइकल ब्लूमबर्ग ने साल 2018 में 1.9 बिलियन डॉलर की कमाई की, लेकिन टैक्स चुकाया 70.7 मिलियन डॉलर. रिपोर्ट के मुताबिक ब्लूमबर्ग ने डिडक्शन, चैरिटेबल डोनेशन और विदेश टैक्स पर मिलने वाले क्रेडिट के जरिए अपनी टैक्स देनदारी को कम किया था. 

ये भी पढ़ें- नोटबंदी के समय वाले सभी CCTV फुटेज संभालकर रखें! RBI का सभी बैंकों को आदेश, जानिए क्यों?

LIVE TV





Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here