NMCH में 3 की मौत: पत्रकार नगर में कोरोना से एक मौत पर मचा हड़कंप, सीतामढ़ी, मधेपुरा के एक-एक संक्रमित की मौत

0
52


Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

पटना4 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक

नालंदा मेडिकल कॉलेज अस्पताल पटना।

  • मौत का आंकड़ा हर दिन तोड़ रहा रिकार्ड
  • NMCH में हर दिन 3 से 4 हो रही मौत

नालंदा मेडिकल कॉलेज में सोमवार को फिर 3 संक्रमितों की जान चली गई है। तीनों कोरोना के सीवियर अटैक से पीड़ित थे और सांस में काफी समस्या आ गई थी। इसमें एक संक्रमित पटना के पत्रकार नगर थाना एरिया का है। पत्रकार नगर और कंकड़बाग में कोरोना के अधिक मामले हैं और जब कोई मौत होती है तो एरिया में हड़कंप मच जाता है। अन्य दो मरने वालों में एक सीमामढ़ी का है और दूसरा मधेपुरा का रहने वाला है।

संक्रमण ने जकड़ा था राधेश्याम को

64 साल के राधेश्याम पत्रकार नगर के जानकी नगर के रहने वाले थे। वह घर से कहीं बाहर नहीं निकलते थे। कोरोना काल में कहां से संक्रमित हो गए कुछ पता ही नहीं चल सका। लक्षण के बाद घर वालों ने NMCH में भर्ती कराया था। इसके बाद हालत में कोई सुधार नहीं हुई हालत बिगड़ती गई और सोमवार को उनकी मौत हो गई। कंकड़बाग एरिया में सबसे अधिक संक्रमण है इसके बाद भी लोग यहां संक्रमण को लेकर डर नहीं रहे हैं। मौत के बाद क्षेत्र के लोगों में काफी दहशत है। कंकड़बाग क्षेत्र के संक्रमिताें में भी इस घटना के बाद चिंता बढ़ गई है लेकिन संक्रमण के बाद भी बाजार में भीड़ लगाने वालों के साथ बिना मास्क के घूमने वालों पर कोई असर नहीं पड़ रहा है।

सीतामढ़ी के उमेश को भी चेस्ट में था बड़ा इंफेक्शन

सीतामढ़ी के रहने वाले उमेशलाल के फेफड़े में वायरस ने संक्रमण का दायरा बढ़ा दिया था। लक्षण के कम ही समय में ऐसा हो गया। संक्रमण का पता चलने के बाद उन्हें NMCH में भर्ती कराया गया था लेकिन इलाज से कोई राहत नहीं मिली। लगातार हालात बिगड़ी गई। सांस लेने में तकलीफ बढ़ गई। पहले से भी बीमारी थी जिससे कोरोना भारी पड़ गया और नालंदा मेडिकल कॉलेज में इलाज के दौरान जान चली गई।

मधेपुराके फजल्लाह की भी हालत दो दिन में बिगड़ी

मधेपुरा के रहने वाले फजल्लाह की हालत भी दो दिनों मेंकाफी बिगड़ गई। वह 80 साल के थे इस कारण से कोरोना उनपर काफी भारी पड़ गया। संक्रमण की पुष्टि के बाद उन्हें नालंदा मेडिकल कॉलेज में भर्ती कराया गया था। इलाज से विशेष राहत नहीं मिल रहा था। संक्रमण का दायरा शरीर में काफी बढ़ गया था। इससे उन्हें काफी परेशानी हो गई थी। इलाज के दौरान सोमवार को NMCH में उनकी भी मौत हो गई।

खबरें और भी हैं…



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here