Passbook: पिता के 60 साल पुराने पासबुक से चमकी किस्मत, पलक झपकते बेटा हुआ करोड़पति

0
16


Bank Passbook: बैंक की छोटी सी छोटी बात को बारीकी से पढ़ना और उसे ध्यान रखना जरूरी है. ये बातें आपके जीवन में बहुत उपयोगी साबित हो सकती हैं. एक ऐसे ही मामले में एक बेटे के हाथ पिता की 60 साल पुरानी पासबुक लगी तो वह मालामाल हो गया. आइये आपको बताते हैं ऐसा क्या हुआ कि पिता की 60 साल पुरानी पासबुक ने बेटे को पल भर में कैसे करोड़पति बना दिया.  

पिता ने बैंक में जमा कराया था पैसा

दरअसल ये मामला साउथ अमेरिका के चिली में रहने वाले एक्सकेल हिनोजोसा से जुड़ा हुआ है. हिनोजोसा के पिता ने 1960 और 70 के दशक में 163 डॉलर यानि तब के 12,684 रुपये बैंक में जमा किए थे. ये पैसा उन्होंने अपने सपनों का घर खरीदने के लिए जुटाया था.

पासबुक से खुला राज

हिनोजोसा के पिता ने ये रकम क्रेडिट यूनियन बैंक में जमा की थी, जो कि अब बंद हो चुका है. इस बीच हिनोजोसा के पिता की मौत हो गई. पिता की मौत के बाद हिनोजोसा ने पासबुक को पिता के चीज-सामान के साथ बक्से में बंद कर के रख दिया था.

रकम बढ़कर 9.33 करोड़ रुपये हुई

लंबे अरसे बाद अचानक हिनोजोसा के हाथ पिता के बक्से में कुछ खोजते वक्त पासबुक लगी. हिनोजोसा को बैंक में जमा रकम पर इसकी स्टेट गारंटी नाम का एक शब्द पढ़ने को मिला. उसके बाद ब्याज दर और महंगाई को देखते हुए उन्हें लगा कि उनके पिता द्वारा बचाई गई रकम अब 1.2 मिलियन डॉलर के करीब पहुंच गई होगी. इस रकम को अभी के हिसाब से रुपए में कनवर्ट करें तो यह लगभग 9.33 करोड़ तक पहुंचती है. 

कोर्ट ने हिनोजोसा के पक्ष में सुनाया फैसला

हिनोजोसा ने इस रकम को स्टेट गारंटी के रूप में वापस पाने के लिए सरकार के पास दावा किया. यह मामला सुप्रीम कोर्ट पहुंचा. सुप्रीम कोर्ट ने हिनोजोसा के पक्ष में फैसला सुनाया. कोर्ट ने कहा कि हिनोजोसा के पिता ने कड़ी मेहनत से इस राशि को जमा किया है, इसपर स्टेट गारंटी है तो उसे वापस मिलना ही चाहिए. बैंक पासबुक का भविष्य अब फाइनल कोर्ट के पाले में है. हो सकता है हिनोजोसा को करीब ₹10 करोड़ रुपये मिल जाएं.

ये ख़बर आपने पढ़ी देश की नंबर 1 हिंदी वेबसाइट Zeenews.com/Hindi पर





Source link