Petrol Diesel Price: क्या आज बढ़ गए पेट्रोल-डीजल के दाम? फटाफट यहां करें चेक

0
30


Petrol-Diesel Price on 16th April: सरकारी तेल कंपनियों ने आज यानी 16 अप्रैल को पेट्रोल-डीजल की कीमतें जारी कर दी हैं. आज भी पेट्रोल-डीजल के दाम में कोई बदलाव नहीं हुआ है. आज लगातार 11वां दिन है, जब कीमतें स्थिर हैं. आखिरी बार 6 अप्रैल को पेट्रोल-डीजल के दाम में 80 पैसे की बढ़ोतरी हुई थी.

जानिए आपके शहर का भाव (Petrol-Diesel Price on 16th April)

– दिल्ली पेट्रोल 105.41 रुपये और डीजल 96.67 रुपये प्रति लीटर
– मुंबई पेट्रोल 120.51 रुपये और डीजल 104.77 रुपये प्रति लीटर
– चेन्नई पेट्रोल 110.85 रुपये और डीजल 100.94 रुपये प्रति लीटर
– कोलकाता पेट्रोल 115.12 रुपये और डीजल 99.83 रुपये प्रति लीटर
– नोएडा में पेट्रोल 105.47 रुपये और डीजल 97.03 रुपये प्रति लीटर
– लखनऊ में पेट्रोल 105.25 रुपये और डीजल 96.83 रुपये प्रति लीटर
– पोर्टब्‍लेयर में पेट्रोल 91.45 रुपये और डीजल 85.83 रुपये प्रति लीटर
– पटना में पेट्रोल 116.23 रुपये और डीजल 101.06 रुपये प्रति लीटर

ये भी पढ़ें- Share Market: लंबे ब्रेक के बाद होगा तगड़ा मुनाफा! बस इन स्‍टॉक में लगाना होगा पैसा

कंपनियां क्यों बढ़ा रहीं कीमतें?

देश में पेट्रोल-डीजल की कीमतें 4 नवंबर 2021 के बाद से 21 मार्च 2022 तक स्थिर रहीं थीं. कीमतों में 22 मार्च से बदलाव शुरू हुआ. क्रिसिल रिसर्च की एक रिपोर्ट के मुताबिक, ऑयल मार्केटिंग कंपनियों को पिछले 4 महीने में बढ़ा नुकसान हुआ है. उनके मार्जिन पर दबाव बढ़ा. इस नुकसान की भरपाई के लिए पेट्रोल-डीजल (Petrol-Diesel) की कीमतों में कम से कम 15 से 20 रुपये का इजाफा करना होगा. हालांकि, रिपोर्ट की मानें तो डीजल की कीमतों में करीब 25 रुपये और पेट्रोल में करीब 23 रुपये की बढ़ोतरी से ही उनके नुकसान की भरपाई हो सकती है. दरअसल, अंतरराष्ट्रीय स्तर पर कच्चे तेल की कीमत में भारी तेजी से कंपनियों के मार्जिन पर दबाव बढ़ा है. तेल कंपनियां लगातार महंगा दाम पर क्रूड ऑयल खरीद रही हैं. 

8 सालों में पेट्रोल पर 200 फीसदी बढ़ा टैक्स

बता दें कि 4 नवंबर 2021 से पहले मोदी सरकार पेट्रोल पर 32.90 रुपये और डीजल पर 31.80 रुपये प्रति लीटर एक्साइज ड्यूटी वसूल रही थी. 2014 में केंद्र में सत्ता में आने के बाद से जब जब कच्चे तेल के दामों में गिरावट आई मोदी सरकार ने एक्साइज ड्यूटी बढ़ा दी. मोदी सरकार के सत्ता में आने से पहले यूपीए सरकार के कार्यकाल में पेट्रोल पर 9.20 रुपये और डीजल पर 3.46 रुपये प्रति लीटर एक्साइज ड्यूटी वसूली जाती थी. लेकिन मोदी सरकार ने पेट्रोल पर 23.7 रुपये और डीजल पर 28.34 रुपये प्रति लीटर एक्साइज ड्यूटी बढ़ा दिया. पांच राज्यों में चुनाव को देखते हुए सरकार ने दिवाली के दिन से पेट्रोल पर 5 रुपये और डीजल पर 10 रुपये एक्साइज ड्यूटी घटा दिया. बावजूद इसके मोदी सरकार पेट्रोल पर 27.90 रुपये और डीजल पर 21.80 रुपये एक्साइज ड्यूटी वसूल रही है. यानी यूपीए सरकार के समय से पेट्रोल पर 200 फीसदी और  डीजल पर 530 फीसदी ज्यादा. 

बिजनेस से जुड़ी अन्य खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें





Source link