Syndicate Bank के खाताधारकों के लिए जरूरी खबर, 30 जून तक अपडेट करा लें IFSC Code

0
11


नई दिल्ली: IFSC Code Change: अगर आपका खाता Syndicate Bank में है तो आपके लिए जरूरी खबर है, क्योंकि 1 जुलाई, 2021 से इस बैंक का IFSC अमान्य हो जाएगा, इसलिए बैंक के ग्राहकों के पास 30 जून तक का वक्त है कि वो अपना बैंक ब्रांच का IFSC कोड अपडेट करवा लें, ये जानकारी Canara Bank की ओर से दी गई है. 

Syndicate Bank बैंक का IFSC कोड हो जाएगा अमान्य

Canara Bank ने अपनी आधिकारिक वेबसाइट पर बताया है कि ‘प्रिय ग्राहक, आपको सूचित किया जाता है कि Syndicate Bank का Canara Bank में विलय के बाद सभी Syndicate IFSC कोड या IFSC (The Indian Financial System Code) एक यूनीक 11 डिजिट का अल्फान्यूमेरिक कोड होता है जो SYNB से शुरू होता है, बदल गया है’

ये भी पढ़ें- 7th Pay Commission: केंद्रीय कर्मचारियों के खाते में 1 July से बढ़कर आएगी Salary, जानिए कितना होगा फायदा

1 जुलाई से नया IFSC कोड

Canara Bank के मुताबिक सभी IFSC कोड जो SYNB से शुरू होते हैं, 1 जुलाई, 2021 से Disable यानी अमान्य हो जाएंगे. Canara Bank ने बताया है कि NEFT/RTGS/IMPS के जरिए पैसे भेजने के लिए अब CNRB से शुरू होने वाले नए नया IFSC कोड का इस्तेमाल करना है. Canara Bank ने कहा कि ग्राहकों की पुरानी चेकबुक 30 जून तक ही काम करेगी, इसके बाद वो इसका इस्तेमाल नहीं कर पाएंगे, इसलिए तुरंत अपनी शाखा में जाकर इसे अपडेट कराएं. आपके पास 30 जून तक अपडेट कराने का मौका है.

IFSC कोड क्यों बदला ?

दरअसल, वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण (Finance Minister Nirmala Sitharaman) ने 2019 में 10 सरकारी बैंकों को 4 बड़े बैंकों में विलय का ऐलान किया था. 
ये विलय अप्रैल 2020 में लागू हुआ, विलय के बाद 2-2 IFSC कोड संभव नहीं है, क्योंकि विलय होने वाले बैंक का अस्तित्व खत्म हो जाएगा और उनके IFSC कोड भी अमान्य हो जाएंगे.
इसलिए खाताधारकों के IFSC कोड में बदलाव हो रहा है.

इन बैंकों का भी हुआ विलय

जैसा कि हमने ऊपर बताया है कि 10 सरकारी बैंकों का 4 बड़े बैंकों में विलय किया गया है. वो 10 बैंक जिनका विलय किया गया है, ये रहे
केनरा बैंक, बैंक ऑफ बड़ौदा, देना बैंक, विजया बैंक, कॉर्पोपेशन बैंक, आंध्रा बैंक, सिंडिकेट बैंक, ओरिएंटल बैंक ऑफ कॉमर्स, यूनाइटेड बैंक ऑफ इंडिया और इलाहाबाद बैंक. इन बैंकों का दूसरे बड़े बैंकों में विलय कर दिया गया था. एक अप्रैल 2021 से ही बैंकों का IFSC और MICR कोड अपडेट करने की प्रक्रिया शुरू हो चुकी है. 

ये भी पढ़ें- Corona की वैक्सीन, दवाएं हो जाएंगी टैक्स फ्री? शुक्रवार को GST काउंसिल की बैठक में होगा फैसला!

LIVE TV





Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here