Women Day 2022: मां ने 400 रुपये महीने में परिवार को पाला, बड़े होकर बेटे ने किया 150 करोड़ का दान

0
50


Women Day 2022: एनर्जी और मेटल सेक्टर में देश के दिग्गज कारोबारी और वेदांता ग्रुप (Vedanta Group) के प्रमुख अनिल अग्रवाल (Anil Agarwal) भले ही तरक्की की ऊंचाइयों पर पहुंच चुके हैं लेकिन अपनी जड़ों को आज भी भूले नहीं हैं. अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस के मौके पर उन्होंने मंगलवार को ट्विटर पर अपनी कहानी शेयर गरीबी और मां की मेहनत को याद किया.

‘मां ने 400 रुपये महीने में परिवार को पाला’

अनिल अग्रवाल (Anil Agarwal) ने मंगलवार को ट्वीट किया, ‘मां, मेरे बचपन को तुम्हारे बलिदान ने सींचा और मुझे मेरे सपने पूरे करने का मौका दिया. उस समय तुम्हें 4 बच्चों का पेट भरने के लिए महज 400 रुपये मिलते थे, लेकिन तुमने हमेशा ये सुनिश्चित किया कि हम सभी के पेट पूरी तरह भरे रहें. मैं खुद को भाग्यशाली मानता हूं कि मैं अब भी तुम्हारे साथ रहता हूं और तुम मुझे हर रोज प्रेरणा देती हो.’ 

‘मुंबई में शुरू किया कबाड़ बेचने का काम’

अनिल अग्रवाल ने ट्विटर पर अपने संघर्ष की कहानी बताई. उन्होंने लिखा कि मात्र 19 साल की उम्र में वो बिहार के पटना से मुंबई पहुंचे. वहां पर उन्होंने सबसे पहले भोईवाड़ा के मेटल मार्केट में 8×9 फुट का ऑफिस किराये पर लिया. इसके बाद वहीं पर मेटल के कबाड़ को बेचने का काम शुरू किया. धीरे-धीरे उनका काम चल निकला. अंत में उन्होंने वेदांता ग्रुप बनाया, जिसकी मार्केट वेल्यू इन दिनों 1.41 लाख करोड़ रुपये है. 

ये भी पढ़ें- Women Day 2022: 50 हजार सांपों को बचाकर बिल में छोड़ा, राष्ट्रपति ने महिला दिवस पर किया सम्मानित

कोरोना काल में दिया 150 करोड़ का दान

उन्होंने अपनी इस सफलता में मां के अलावा पत्नी और बेटी के योगदान को भी याद किया. कहा कि वह इनके बिना कुछ भी नहीं है. इनके चेहरे पर मुस्कान देखकर उन्हें बहुत खुशी मिलती है. देश के दिग्गज कारोबारी होने के बावजूद लोगों की मदद से वे पीछे नहीं रहते हैं. कोरोना काल में उनके वेदांता समूह ने लोगों की मदद के लिए 150 करोड़ रुपये से ज्यादा की राशि दान की थी. जिसकी तब लोगों ने खूब सराहना की थी. 

LIVE TV





Source link